योगी आदित्यनाथ ने कहा -‘जब तक कश्मीर में हिंदू राजा था तब हिंदू और सिख सुरक्षित थे’

नई दिल्लीः लखनऊ में बीजेपी द्वारा आयोजित सिख समागम में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब तक कश्मीर में हिंदू राजा था तब तक हिंदू और सिख सुरक्षित थे। लेकिन जब हिंदू राजा का पतन हुआ तो हिंदुओं का भी पतन होना शुरू हो गया। आज वहां की स्थिती सही नहीं है और ना ही कोई अपने आप को सुरक्षित बोल सकता है।

गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के मौके पर यूपी सरकार ने लखनऊ में भाजपा सिख समागम का आयोजन किया है। समागम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाशोत्सव पूरे हर्षोल्लास और सम्मान के साथ मनाएगी। उन्होंने कहा जिनके बलिदान और त्याग के कारण आज हम स्वतंत्र वातावरण में सांस ले रहे हैं। ऐसे गुरुओं मसलन गुरु गोविंद सिंह महाराज, गुरु नानक देव जी महाराज, तथा गुरु तेग बहादुर महाराज के नाम पर प्रदेश के सरकारी मेडिकल कॉलेज व अन्य शिक्षण संस्थाओं का नाम किया जाएगा।

योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि केसरिया सिख परंपरा का ध्वज है और यह ध्वज कोई कांग्रेसी, बसपाई और सपाई नहीं फहरा सकता। इसे लगाएगा तो कोई भाजपाई और हम जैसे लोग ही लगा सकते हैं। उन्होंने कहा हिंदू और सिख के बीच भेद डालने की कोशिश हो रही लेकिन जब भी कोई भेद डालने वाले सफल होंगे तो सिख अफगानिस्तान की तरह असुरक्षित हो जाएंगे। आज अफगानिस्तान में सिर्फ 100 सिख बचे हैं और उनकी स्थिति दयनीय है। कश्मीर में जब तक हिंदू राजा था तो हिंदू और सिख दोनों सुरक्षित थे। लेकिन आज वहां की स्थिती सही नहीं है और ना ही कोई अपने आप को सुरक्षित बोल सकता है।

भाजपा सिख समागम में यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा सिख समुदाय और भाजपा दूध में चीनी की तरह घुले है। सपा बसपा और कांग्रेस अभी ICU में है 2019 में कोमा में चली जाएंगी। वहीं, डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि 1984 के दंगे के आरोपी आज भी खुले घूम रहे हैं। उन्हें बुलेट से नहीं बैलेट से सबक सिखाये। आरोपी की असली सजा उन्हें सत्ता से दूर रखना है।

%d bloggers like this: