राजधानी में हवा की गुणवत्ता लगातार खराब

नई दिल्लीः दिल्ली में रविवार को मोटी धुंध की चादर छाई रही और इस मौसम की अब तक की सबसे खराब वायु गुणवत्ता दर्ज की गई। राष्ट्रीय राजधानी में हवा की गुणवत्ता लगातार खराब हो रही है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी में रविवार सुबह कुल वायु गुणवत्ता सूचकांक 381 दर्ज किया गया जो बेहद खराब की श्रेणी में आता है। इस मौसम में खराब वायु गुणवत्ता का यह सबसे अधिक सूचकांक है जो प्रदूषण के गंभीर स्तर से कुछ ही नीचे है।

हालांकि दिन में वायु गुणवत्ता में सुधार हुआ और शाम चार बजे एक्यूआई 360 दर्ज किया गया लेकिन यह भी बहुत खराब श्रेणी में आता है। बता दें कि 0 से 50 के बीच एक्यूआई अच्छा माना जाता है, 51 और 100 के बीच संतोषजनक, 101 और 200 के बीच मध्यम श्रेणी का, 201 और 300 के बीच खराब, 301 और 400 के बीच ”बेहद खराब और 401 से 500 के बीच एक्यूआई ”गंभीर माना जाता है। एनसीआर क्षेत्र में, गाजियाबाद और गुड़गांव में प्रदूषण का स्तर गंभीर रिकॉर्ड किया गया जबकि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में वायु गुणवत्ता बहुत खराब रही।

अधिकारियों ने हवा की गुणवत्ता में आई इस गिरावट के पीछे निर्माण कार्य से उड़ने वाली धूल, वाहनों से होने वाला प्रदूषण जैसे स्थानीय कारकों के अलावा पंजाब और हरियाणा से पराली जलाने के कारण होने वाले प्रदूषण को जिम्मेदार ठहराया। अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में धुएं के कारण धुंध की एक मोटी चादर छाई रही और मौसम की सबसे खराब वायु गुणवत्ता दर्ज की गई। केंद्र सरकार के सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) ने कहा कि प्रदूषण के बहुत खराब से ऊपरी स्तर तक बढ़ने की आशंका है लेकिन यह अगले तीन दिन में गंभीर स्तर पर नहीं जाएगा।

 

%d bloggers like this: