रेल कर्मियों को रेलवे अस्पतालों में गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने की तैयारी

नई दिल्लीः सरकार सुरक्षित ट्रेन परिचालन में दिनरात काम करने वाले रेल कर्मियों को रेलवे अस्पतालों में गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने की तैयारी कर रही है। इसके तहत अस्पतालों में सुपर स्पेशियलटी स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने की योजना है। प्रथम चरण में सभी रेल अस्पतालों व स्वास्थ्य केंद्रों को सीसीटीवी कैमरें व वाई फाई से युक्त करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। इस फैसले से 64 लाख रेल कर्मी, सेवा निवृत्त कर्मी व परिवार को लाभ मिलेगा।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने 29 अगस्त को रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्वनी लोहानी व बोर्ड के सदस्यों के साथ भारतीय रेल की स्वास्थ्य सेवा व्यवस्था की समीक्षा की थी। इसके अलावा गोयल ने सोमवार को दिल्ली स्थिति रेलवे के सेंट्रल अस्पताल की औचक निरीक्षण भी किया। बतातें हैं कि रेल मंत्री ने अस्पताल की खराब व्यवस्था को लेकर नाखुशी जताई। उन्होंने रेलवे अस्पताल को कॉरपारेट की तर्ज पर विकसित कर सुपर स्पेशियलटी स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के लिए कहा। जिससे कड़ी मेहनत करने वाले कर्मचारियों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जा सकें।

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि समीक्षा बैठक में भारतीय रेल की स्वास्थ्य सेवा को गुणवत्तारक बनाने के लिए योजना बनाने के निर्देश दिए हैं। गोयल ने फिलहाल दिसंबर 2018 तक सभी रेलवे अस्पतालों व स्वास्थ्य केंद्रों में वाईफाई व सीसीटीवी कैमरे लगाने के आदेश दिए हैं। सीसीटीवी कैमरों से सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता होगी।

%d bloggers like this: