लाहौर : लाहौर के हाईकोर्ट ने आदेश दिया भगत सिंह के नाम पर हो शादमान चौक का नाम

नई दिल्लीः लाहौर हाईकोर्ट ने बुधवार को प्रशासन को शादमान चौक का नाम बदलकर भगत सिंह के नाम पर रखने को कहा है। भगत सिंह स्वतंत्रता आंदोलन के नायक थे जिन्हें ब्रिटिश शासकों ने 87 साल पहले 23 मार्च, 1931 को उनके दो साथियों राजगुरु और सुखदेव के साथ लाहौर जेल में फांसी दे दी थी। बाद में इस जेल के स्थान पर ही शादमान चौराहा बनाया गया था।

लाहौर हाईकोर्ट के न्यायधीश शाहिद जमाल खान ने लाहौर के डिप्टी कमिश्नर को आदेश दिया है कि वे जल्द से जल्द भगत सिंह के नाम पर शदमान चौक का नाम बदलने के लंबित मामले पर फैसला करे। कोर्ट में यह याचिका भगत सिंह मेमोरियल फाउंडेशन के चेयरमैन इम्तियाज रशीद कुरैशी ने दायर की थी।

याचिकाकर्ता ने अदालत में कहा कि भगत सिंह देश के महान स्वतंत्रता सेनानी थे और स्वतंत्रता के लिए अपने साथियों के साथ शहीद हुए थे. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के संस्थापक मुहम्मद अली जिन्ना ने भी भगत सिंह को श्रद्धांजलि देते हुए कहा था कि भगत सिंह जैसा स्वतंत्रता सेनानी पूरे देश में कोई नहीं रहा। याचिकाकर्ता ने कहा कि भगत सिंह के नाम पर शादमान चौक का नाम रखना न्यायपूर्ण है।

%d bloggers like this: