सबरीमाला विवादः महिलाओं को दूसरे दिन भी मंदिर में नहीं मिला प्रवेश, केरल में तनाव जारी

नई दिल्लीः केरल के सबरीमाला मंदिर में सभी महिलाओं के प्रवेश का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस लाठीचार्ज के खिलाफ कई संगठनों ने गुरुवार को केरल बंद बुलाया। इसका असर राज्य के कई हिस्सों में देखने को मिला। छिटपुट घटनाओं को छोड़कर बंद लगभग शांतिपूर्ण रहा।
सबरीमाला कर्म समिति ने गुरुवार सुबह छह बजे से शाम छह बजे तक बंद बुलाया था। इसका भाजपा की अगुवाई वाली एनडीए ने समर्थन किया था। वहीं सबरीमाला संरक्षण समिति ने 24 घंटे राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया है, जिसका प्रवीण तोगड़िया के नवगठिक संगठन अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने समर्थन किया है।

अधिकारियों ने बताया कि कोझीकोड, मलप्पुरम व यहां के कुछ स्थानों पर प्रदर्शनकारियों ने केरल राज्य सड़क परिवहन निगम के बसों पर पथराव किया, जिसके बाद उनका संचालन रोक दिया गया। महानवमी के मौके पर सभी राज्य व केंद्र सरकार के कायार्लय, बैंक व शैक्षणिक संस्थान बंद थे।

दुकानें व बाजार भी बंद है। तिरुवनंतपुरम व कोच्चि के आईटी पार्क में भी लोगों की कम मौजूदगी रही। बंद का असर रेल यात्रियों पर पड़ा उन्हें स्टेशनों से टैक्सी व सार्वजनिक वाहनों पाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सबरीमाला जा रहे श्रद्धालु भी परिवहन के साधन नहीं होने पर जगह-जगह फंस गए।

%d bloggers like this: