सीरियाई सेना ने रूसी विमान पर किया हमला, 15 जवानों की हुई मौत

नई दिल्ली :रूसी रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को पुष्टि की है कि समुद्री गश्ती विमान को सीरियाई सेना ने उस समय अनजाने में मार गिराया, जब वह इजरायली मिसाइलों के हमले की चपेट में आ गया था। विमान पर 15 जवान सवार थे। रूसी सेना ने कहा कि विमान को यद्यपि सीरियाई हवाई रक्षा ने सोमवार रात मार गिराया, लेकिन विमान को इस स्थिति में पहुंचाने के लिए इजरायल जिम्मेदार है।

रूसी सेना के प्रवक्ता, मेजर जनरल इगोर कोनाशेंकोव ने कहा, “इजरायली सेना की गैर जिम्मेदाराना हरकतों के परिणामस्वरूप, 15 रूसी सैनिकों को अपनी जान गंवानी पड़ी है, जो रूसी-इजराइली साझेदारी की भावना के बिल्कुल विपरीत है।”मंत्रालय ने इसके पहले कहा था कि इल्यूशिन आईएल-20 विमान जब सोमवार रात भूमध्य सागर के ऊपर था, उसी समय रात लगभग 11 बजे उसका रडार से संपर्क टूट गया था।यह घटना सीरियाई तट से लगभग 35 किलोमीटर दूर उस समय घटी, जब विमान पश्चिमोत्तर शहर लताकिया के पास स्थित मीमिम सैन्यअड्डे को लौट रहा था। लताकिया में सीरियाई ठिकानों पर इजरायल के चार एफ-16 लड़ाकू विमानों द्वारा किए गए एक हमले के दौरान विमान रडार से गायब हो गया था। इजरायल ने अब तक इस घटना पर कोई टिप्पणी नहीं की है।

%d bloggers like this: