हैदराबाद के एक प्राइवेट स्कूल में तीन दिन में दो नाबालिग लड़कियों से बलात्कार

नई दिल्लीः हैदराबाद के एक प्राइवेट स्कूल में तीन दिन में दो नाबालिग लड़कियों से बलात्कार के मामले सामने आए हैं। तीन दिन के अंदर दो रेप केस सामने आने के बाद स्कूल को बंद करने की मांग की जा रही है। बच्ची के पिता एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। मामला सामने आने के बाद पिता ने गोलकोंडा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज की है। पिता का आरोप है कि स्कूल में ही बच्ची के साथ बलात्कार किया गया है, हालांकि बच्ची उस शख्स को पहचान नहीं पा रही है जिसने उसके साथ ये घिनौना काम किया है। पुलिस ने नाबालिग बच्ची से रेप के आरोप में एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

नाम ना बताने की शर्त पर पुलिस अधिकारी ने हिन्दुस्तान टाइम्स से बातचीत में बताया कि, हमने पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है। बच्ची को भी मेडिकल जांच के लिए अस्पताल भेज दिया गया है। आंध्र प्रदेश के बाल अधिकार संघ के अध्यक्ष पी अच्युता राव ने सरकार से मांग की है कि अंतर्राष्ट्रीय स्कूल की मान्यता रद्द की जानी चाहिए साथ ही स्कूल को बंद कर देना चाहिए क्योंकि स्कूल लड़कियों की सुरक्षा करने में नाकाम साबित हुआ है।

इससे पहले गोलकोंडा पुलिस ने ऐसा ही एक केस निजी स्कूल के एक सुपरवाइजर के खिलाफ दर्ज किया था। आरोप था कि सुपरवाइजर बच्ची को चॉकलेट देने के बहाने से स्कूल के बाथरूम में ले गया और वहां उसने बच्ची के साथ बलात्कार किया। जब बच्ची घर वापस आई और उसने पेट दर्द की शिकायत की। जब बच्ची के माता-पिता ने उसके शरीर पर खून बहते देखा तो तुरंत पुलिस में इस बात की शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने इस मामले में तुरंत कार्रवाई की और 16 सितंबर को स्कूल के कर्मचारी को गिरफ्तार कर लिया। स्कूल प्रशासन इस घटना की जिम्मेदारी ली है और पीड़िता के परिवार को पांच लाख रूपए की सहायता देने के लिए कहा है।

%d bloggers like this: