50 वर्षीय महिला को दिल्ली महिला आयोग ने करवाया आजाद

नई दिल्ली : दिल्ली से एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है जहका एक जल्लाद भाई ने अपनी 50 वर्षीय बहन को दो सालों से घर में कैद कर रखा था। दिल्ली महिला आयोग ने मंगलवार को उत्तरी दिल्ली के रोहिणी से एक महिला को रेस्क्यू किया। महिला हेल्पलाइन 181 पर सूचना मिली कि एक महिला घर में कैद है। इस पर आयोग की मोबाइल हेल्पलाइन काउंसलर तुरंत वहां भेजी गईं। जब आयोग की टीम ने घर के मालिक से गेट खोलने को कहा तो भाई की पत्नी ने गेट खोलने से मना कर दिया। उसने आयोग के लोगों को गालियां देनी शुरू कर दीं। जिसके बाद आयोग की टीम ने पुलिस से बात की। सहायता के लिए मौके पर पुलिस की टीम आई। इसके बाद भी भाई की पत्नी ने गेट खोलने से इनकार कर दिया और पुलिस टीम को भी गालियां देनी शुरू कर दीं।

घर में अंदर जाने का कोई रास्ता नज़र नहीं आने पर महिला आयोग की टीम पुलिस वालों के साथ मिलकर पड़ोसी के छत से होकर उस घर में पहुंची जहां महिला अपनी ही गंदगी में पड़ी हुई थी। छत पर महिला का मल फैला हुआ था। उनको खुले में छत पर रखा गया था। महिला के दूसरे भाई ने बताया कि वह मानसिक रूप से पूरी तरह ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि वह अपनी मां के साथ रहती थी। लेकिन मां की मौत के बाद वह छोटे भाई के साथ रहने लगी। उन्होंने बताया कि उसका भाई महिला का ठीक से ध्यान नहीं रखता था और उसके साथ उसका परिवार अमानवीय व्यवहार करता था।

25 queries in 0.137
%d bloggers like this: