ISRO ने रचा इतिहास, एक साथ लॉच किये 31 सैटेलाइट

नई दिल्ली: भारत का ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) गुरुवार को पृथ्वी की निगरानी करने वाले देश के हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग उपग्रह (हायसिस)और आठ देशों के 30 छोटे उपग्रहों के साथ श्रीहरिकोटा से लॉन्च हुआ।44.4 मीटर लंबा और 230 टन वजनी पीएसएलवी-सीए (कोर अलोन) संस्करण् ने सुबह 9.58 बजे प्रक्षेपण स्थल से उड़ान भरी। पीएलएलवी रॉकेट अपने साथ 380 किलोग्राम वजनी हायसिस और कुल 261 किलोग्राम के 30 अन्य उपग्रह ले गया है।भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अनुसार, रॉकेट के लॉन्च के बाद इस मिशन को पूरा होने में केवल 112 मिनट लगेंगे।

रॉकेट उड़ान के 16 मिनट बाद अपना चौथा इंजन बंद कर लेगा और उड़ान के 17 मिनट बाद पांच सालों की जीवन अवधि वाला हायसिस उपग्रह निर्धारित कक्षा 636 किमी घ्रुवीय सूर्य समन्वय कक्ष (एसएसओ) में स्थापित कर दिया जाएगा। रॉकेट 23 अमेरिकी उपग्रह ले जा रहा है और शेष ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, कोलंबिया, फिनलैंड, मलेशिया, नीदरलैंड और स्पेन के हैं।

You may have missed

%d bloggers like this: