कृषि क्षेत्र के लिए 10 लाख करोड़ रुपए का कर्ज़ उपलब्ध कराने का लक्ष्य