अब पशुओं का उपचार वाट्सएप से करेंगे डॉक्टर

doctors जिले के सुदूर गाँव में मौजूद बीमार पशु के उपचार के लिये गाँव में ही विशेषज्ञ पशु चिकित्सकों की सलाह मिल सकेगी। यह सब सूचना तकनीक से संभव होगा। कलेक्टर डॉ. संजय गोयल ने जिले के विशेषज्ञ चिकत्सकों को वाट्सएप के जरिए यह सलाह देने की हिदायत दी है। उन्होंने चिकित्सकों को इसके लिये स्मार्ट मोबाइल फोन और इंटरनेट डाटा मुहैया कराने को कहा है। डॉ. गोयल पशुपालन विभाग की गतिविधियों की समीक्षा कर रहे थे।
कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई बैठक में कलेक्टर ने कहा कि गाँव स्तर पर पशुओं के बीमार होने पर गौ सेवक आदि के माध्यम से वाट्सएप के जरिए पशु के फोटो, बीमारी के लक्षण व ऑडियो मंगाए जाएँ। इस आधार पर विशेषज्ञ चिकित्सक वाट्सएप के जरिए ही पशुओं के इलाज के लिये उचित सलाह पहुँचायें।
कलेक्टर डॉ. गोयल ने वर्षा ऋ तु एवं मौसमी बीमारियों को ध्यान में रखकर शत प्रतिशत पशुओं का टीकाकरण कराने पर भी बैठक में विशेष दिया। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार द्वारा पशुपालकों के लिये संचालित योजनाओं की लक्ष्यपूर्ति हर हाल में कराएँ। डॉ. गोयल ने निर्देश दिए कि विभाग की योजनाओं के तहत बैंकों के लिये निर्धारित लक्ष्य से अधिक संख्या में प्रकरण हर बैंक में पहुँचाए जाएँ, जिससे लक्ष्य पूर्ति हो सके।
चीनौर में भी होंगे पशुओं के एक्स-रे
भितरवार एवं चीनौर क्षेत्र के बीमार पशुओं को जल्द ही एक्स-रे के लिये ग्वालियर लाने की जरूरत नहीं रहेगी। बैठक में कलेक्टर ने चीनौर में एक्स-रे मशीन स्थापित करने के निर्देश उप संचालक पशु चिकित्सा को दिए। उन्होने कहा इसके लिये भवन भी बनवाया जायेगा। मालूम हो कि चीनौर गाँव सांसद आदर्श ग्राम योजना में शामिल है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: