उत्तर-पूर्वी भारत के शिक्षण संस्थानों में तेजी से आगे बढ़ रही है उषा मार्टिन विश्वविद्यालय

उषा मार्टिन विश्वविद्यालय बहुत ही कम समय में झारखंड समेत पूरे उत्तर- पूर्वी भारत में पेशेवर शिक्षा देने वाले संस्थानों में तेजी से आगे बढ़ रही है। आधुनिक सुविधाओं से लैस इस विश्विद्यालय का परिसर नवोदित छात्रों को बहुत तेजी से अपनी और आकर्षित कर रहा है। इतना ही नहीं यहां के छात्र बताते हैं की यहां की शिक्षा प्रणाली दूसरे संस्थानों से बहुत ही अलग और आधुनिक है। पढाई के साथ छात्रों के मानसिक तनाव को कम करने और अच्छे स्वास्थ के लिए खेल के मैदान के साथ-साथ अन्य कई सुविधाएँ उपलब्ध है। अगर बात करें फॉकलिटी मेंबर्स की,तो उनका छात्रों को प्रशिक्षण करने का तरीका बिल्कुल अलग और पेशेवर है।
इस संस्थान की खास बात यह है कि ये विश्वविद्यालय अपने छात्रों कोर्सेज कराने के साथ -साथ उनके उज्जवल भविष्य की भी चिंता करती है।
देश में कई ऐसे संस्थान हैं जो छात्रों डिग्री तो दे देती है लेकिन जब बात प्लेसमेंट की हो तो छात्रों को दरबदर भटकना पड़ता है। लेकिन के साथ ऐसा नहीं है यह संस्थान अपने छात्रों इस तरह प्रशिक्षित करती है कि उसे भविष्य में कभी भी प्लेसमेंट के समय किसी भी तरह के समस्या से रूबरू न होना परे।
उषा मार्टिन विश्वविद्यालय निश्चित ही आने वाले समय में उन युवओं के सपने को एक सच करने के साथ- साथ राष्ट्र निर्माण में अपना अहम् योगदान देगी क्योंकि किसी भी राष्ट्र का आधार शिक्षा ही तो है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: