कालेधन से न डरें करदाता : अरूण जेटली

Arun-jaitlyकालेधन से न डरें करदाता : अरूण जेटली
नई दिल्ली,। वित्तमंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि किसी भी ईमानदार करदाता को काले धन संबंधी कानून से डरने की जरूरत नहीं है । इसमें व्यवस्था का उल्लंघन करने वालों के लिए कड़ी सजा का प्रावधान किया गया है ।आज नई दिल्लीं में प्रधान मुख्यव आयकर आयुक्तों के 31वें वार्षिक सम्मेलन में श्री जेटली ने कहा कि संसद में हाल में पारित काले धन संबंधी कानून का मकसद काले धन की उगाही है । इससे किसी ईमानदार करदाता को डरने की जरूरत नहीं है । ये केवल उन्हीं के खिलाफ है, जिन्होंने विदेशों में धन छुपा रखा है । वित्तमंत्री ने कहा कि ‍सरकार, इस वित्त वर्ष के दौरान प्रत्यक्ष कर राजस्व में 14 से 15 प्रतिशत की बढ़ोतरी की आशा कर रही है । उन्होंने आयकर विभाग से कर संग्रह बढ़ाने को कहा। उन्होंने कहा कि अधिक कर संग्रह से देश में आधरभूत ढांचा और सामाजिक क्षेत्र के विकास में मदद मिलेगी ।वित्तमंत्री ने कहा कि कर चोरी पर रोक लगाने की जरूरत है। उन्होंने यह भी कहा कि कर अधिकारियों को कर संग्रह में आचार शास्त्र का ध्यान रखना चाहिए और उच्च मापदंडों को बनाए रखना चाहिए। श्री जेटली ने आयकर अधिकारियों से कहा कि वे कर संग्रह प्रक्रिया में किसी को परेशान न करें । उनका यह भी कहना था कि कर चोरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए ।सरकार ने वित्तीिय घाटे को तीन दशमलव नौ प्रतिशत तक लाने का विश्वािस व्येक्त किया है। नई दिल्ली् में एक समारोह से अलग अरूण जेटली ने कहा कि सरकार अधिक व्यय कर आर्थिक वृद्धि पर ध्यान केन्द्रित करेगी। श्री जेटली ने कहा कि कल नई दिल्ली में दूरदर्शन के किसान चैनल की शुरूआत की जाएगी । श्री जेटली सूचना और प्रसारण मंत्री भी हैं।उन्होंने बताया कि 24 घंटे के इस चैनल से ग्रामीण भारत, कृषि, किसानों और मौसम से संबंधित विषयों पर प्रसारण होंगे । इस चैनल से मनोरंजन के कार्यक्रम भी प्रसारित किये जाएंगे । इससे पहले राजग सरकार की एक वर्ष की उपलब्धियों को उजागर करने वाली मल्टीो मीडिया प्रदर्शनी-साल एक, शुरूआत अनेक का उद्घाटन करते हुए श्री जेटली ने कहा कि अगले एक महीने के दौरान इस तरह के आयोजन देश की तीस राजधानियों और साठ शहरों में किये जाएंगे । इस अभियान में 345 मोबाइल वैन लगाई जाएंगी । उन्हों ने बताया कि इन प्रदर्शनियों का उद्देश्ये लोगों में जागरूकता लाना है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

* Copy This Password *

* Type Or Paste Password Here *

Captcha verification failed!
CAPTCHA user score failed. Please contact us!