कोलकाता के खिलाफ मुम्बई की “करो या मरो ” की स्थिति

image_20130517103056कोलकाता के खिलाफ की “करो या मरो ” की स्थिति
नई दिल्ली,। आईपीएल के आठवें संस्करण में प्लेआफ की दौड़ में बरकरार रहने के लिये मुम्बई को किसी भी हालत में कोलकाता को हराना होगा। कोलकाता के खिलाफ मुंबई का जीत हार का रिकॉर्ड 10–5 का है हालांकि इस सत्र में आठ अप्रैल को पहले मुकाबले में कोलकाता ने उसे हराया था। मुंबई की टीम पिछले मैच में एबी डिविलियर्स से मिले जख्मों पर मरहम लगाने के बाद इस मैच में उतरेगी। बंगलुरु के डिविलियर्स ने पिछले मैच में उसके खिलाफ 59 गेंद में 133 रन बनाये थे।अपने घरेलू मैदान वानखेड़े स्टेडियम पर कल आखिरी मैच खेल रही मुंबई के 12 अंक है। उसे इसके बाद 17 मई को सनराइजर्स हैदराबाद से खेलना है लिहाजा उसके पास कोताही बरतने की गुंजाइश नहीं है। इस मैच में हारने के बाद भी मुंबई पूरी तरह से प्लेआफ की दौड़ से बाहर नहीं होगा लेकिन फिर उसे किस्मत पर भी निर्भर रहना होगा। दूसरी ओर लगातार तीन मैच जीत चुकी कोलकाता अगर जीतती है तो चेन्नई सुपर किंग्स को पछाड़कर फिर नंबर वन पर काबिज हो जायेगी। इसके साथ ही इस सत्र में मुंबई के खिलाफ उसका जीत का रिकॉर्ड शत प्रतिशत हो जायेगा। मुंबई के गेंदबाजों की डिविलियर्स और आरसीबी कप्तान विराट कोहली ने जमकर धुनाई की थी। जसप्रीत बुमरा और हार्दिक पंड्या दोनों ने 50 से अधिक रन दिये। इन दोनों में से एक को बाहर रखा जा सकता है।बंगलुरु के खिलाफ मुंबई के लिये सिर्फ लसिथ मलिंगा अच्छी गेंदबाजी कर सके थे। मुंबई को उम्मीद होगी कि स्पिनर हरभजन सिंह और जगदीशा सुचित भी लय हासिल करें जो बंगलुरु के खिलाफ महंगे साबित हुए थे।बल्लेबाजी में लैंडल सिमंस लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। बंगलुरु के खिलाफ उन्होंने 68 रन बनाये थे। वहीं कीरोन पोलार्ड ने भी 49 रन की पारी खेली थी।दूसरी ओर नाइट राइडर्स को पता है कि मुंबई को हराकर वे ना सिर्फ प्लेआफ में प्रवेश कर लेंगे बल्कि शीर्ष दो में रहने की संभावना भी प्रबल होगी। सनराइजर्स, दिल्ली और पंजाब को हराकर गौतम गंभीर की टीम ने समय पर शीर्ष फार्म हासिल किया है।कोलकाता के पास गंभीर (11 मैचों में 288 रन), राबिन उथप्पा (325 रन) और मनीष पांडे (203) जैसे बल्लेबाजों के अलावा युसूफ पठान और आंद्रे रसेल जैसे हरफनमौला हैं। गेंदबाजी में उमेश यादव नौ विकेट ले चुके हैं जबकि रसेल ने भी 11 विकेट चटकाये हैं। वेस्टइंडीज के सुनील नारायण और ऑस्ट्रेलिया के ब्राड हाग किफायती साबित हुए हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: