जैन मुनि तरुण सागर का 51 साल की उम्र में निधन

0
167

नई दिल्लीः जैन मुनि तरुण सागर का निधन हो गया. उन्होंने 51 साल की उम्र में दिल्ली में आज सुबह आखिरी सांस ली. वे पीलिया की बीमारी से ग्रसित थे। उनकी अंतिम यात्रा दिल्ली के राधेपुरी से शुरू होगी और अंतिम संस्कार दिल्ली से 25 किलोमीटर दूर तरुणसागरम तीर्थ में दोपहर 3 बजे होगा। जैन मुनि तरुण सागर अपने कड़वे प्रवचनों के लिए मशहूर थे। उनके प्रवचन इसी नाम से किताब की शक्ल में प्रकाशित भी किए गए हैं। उनका जन्म 26 जून 1967 को मध्य प्रदेश के दमोह में हुआ था, उन्होंने 14 साल की उम्र में दीक्षा ली थी।

जैन मुनि के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दुख प्रकट किया है। प्रधानमंत्री ने उनके साथ की पुरानी तस्वीर साझा करते हुए ट्वीट कर कहा कि जैन मुनि तरुण सागर के निधन पर गहरा दुख हुआ है हम उन्हें उनके उच्च विचारों और समाज के लिए योगदान के लिए याद करेंगे। उनके विचार लोगों को प्रेरित करते रहेंगे।

वहीं राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा, ”जैन मुनि श्रद्धेय तरुण सागर जी महाराज के असामयिक महासमाधि लेने के समाचार से मैं स्तब्ध हूँ। वे प्रेरणा के स्रोत, दया के सागर एवं करुणा के आगार थे। भारतीय संत समाज के लिए उनका निर्वाण एक शून्य का निर्माण कर गया है। मैं मुनि महाराज के चरणों में अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

* Copy This Password *

* Type Or Paste Password Here *

Captcha verification failed!
CAPTCHA user score failed. Please contact us!