Posted On by &filed under आर्थिक.


bangarooकेंद्रीय श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि सरकार जल्द ही निष्क्रिय पड़े भविष्य निधि खातों पर 8.8 प्रतिशत ब्याज चुकाने के लिए सेवानिवृत्ति कोष निकाय कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) को अधिकृत करने के लिए अधिसूचना जारी करेगी।
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली के आदेश के बाद हम इन खातों पर भी ब्याज का भुगतान करने जा रहे हैं। जल्दी ही इस बारे में नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा। इस अधिसूचना से देश के करीब 9.70 करोड़ कर्मचारियों को फायदा मिलने वाला है।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि देशभर में निष्क्रिय पीएफ खातों में 42,000 करोड़ रुपए से अधिक की रकम जमा है और निष्क्रिय खातों पर साल 2011 से ब्याज नहीं दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक ईपीएफ में लोग जब तक चाहें अपना फंड जमा रख सकते हैं। जब तक निष्क्रिय खातों पर भी लोगों को सरकार की ओर से ब्याज मिलेगा, वह पैसों की निकासी नहीं करना चाहेंगे। यह सुरक्षित निवेश भी है। आज नहीं तो कम हमें दावेदार को उसकी राशि देनी ही होगी। इसलिए इसमें अनक्लेम्ड अमाउंट जैसा कुछ भी नहीं है।

One Response to “निष्क्रिय पड़े भविष्य निधि खातों पर मिलेगा 8.8 प्रतिशत ब्याज”

  1. हिमवंत

    अधिक ब्याज दर भारत के विकास में बाधक है. आज जब विकसित देशों में ऋणात्मक ब्याज दर की स्थिति बन रही है तो भारत में अधिक ब्याज दर के कारण आर्थिक व्रिद्धि कमजोर बनी हुई है. भविष्य निधि सहित सभी खातों के ब्याज दर में कमी अपेक्षित है.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *