भारत-दक्षिण कोरिया के संबंधों को लगे नए पंख, इन समझौते पर हुआ करार

नई दिल्ली: के के के दौरान भारत और दक्षिण कोरिया ने , और वैज्ञानिक व तकनीकी सहयोग क्षेत्र समेत 11 समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि दोनों पक्षों ने उन्नत व्यापक आर्थिक साझेदारी समझौता (सीईपीए) के अर्ली हार्वेस्ट पैकेज के संयुक्त ब्यौरे पर हस्ताक्षर किए हैं।अर्ली हार्वेस्ट कोरिया सीईपीए में सुधार पर जारी बातचीत को सुगम बनाएगा। सीईपीए को व्यापार उदारीकरण के लिए मुख्य क्षेत्रों की पहचान कर 2010 में शुरू किया गया था।बुजुर्गों और विकलांगों के लिए इंटरनेट की चीजें (आईओटी), कृत्रिम बुद्धिमता (एआई), बिग डेटा, स्मार्ट फैक्ट्री, 3 डी प्रिंटिंग, इलेक्ट्रिक वाहन, एडवांस सामग्री और किफायती हेल्थकेयर जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्र शामिल हैं।

2018-2022 की अवधि के लिए एक सांस्कृतिक विनिमय कार्यक्रम पर भी दोनों पक्षों ने हस्ताक्षर किए हैं, जिसके जरिए संगीत व नृत्य, थिऐटर, कला प्रदर्शनी, अभिलेखागार, मानव विज्ञान, मास मीडिया कार्यक्रम और संग्रहालय प्रदर्शनी के क्षेत्र में संस्थागत सहयोग प्रदान कर सांस्कृतिक और लोगों से लोगों के संबंधों को गहरा बनाने की कोशिश की जाएगी।

वैज्ञानिक व तकनीकी अनुसंधान, रेलवे अनुसंधान, जैव प्रौद्योगिकी व जैव-अर्थशास्त्र, आईसीटी व दूरसंचार और सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्यमों के क्षेत्रों में सहयोग के लिए भी एक अन्य एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: