मरणोपरांत संयुक्त राष्ट्र मेडल से सम्मानित होंगे 126 शांति रक्षक

size0-army.mil-42703-2009-06-23-210608मरणोपरांत संयुक्त राष्ट्र मेडल से सम्मानित होंगे 126 शांति रक्षक
संयुक्त राष्ट्र, । संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों के दौरान पिछले वर्ष मारे गए सेना, पुलिस और असैन्य नागरिकों से जुड़े 126 लोगों को उनके साहस और बलिदान के लिए वैश्विक संस्था 29 मई को मरणोपरांत प्रतिष्ठित संयुक्त राष्ट्र मेडल से सम्मानित करेगी जिनमें दो भारतीय भी शामिल हैं।
उल्लेखनीय है कि हर वर्ष 29 मई को मनाए जाने वाले अंतर्राष्ट्रीय संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षक दिवस पर कांगो गणराज्य में संयुक्त राष्ट्र संगठन स्थिरता मिशन में सेवा करने वाले भारतीय लांस नायक नंद राम और दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन में असैन्य नागरिक क्षमता के तौर पर सेवा देने वाले राजू जोसेफ को मरणोपरांत डैग हैमस्र्कजोल्ड मेडल से सम्मानित किया जाएगा।संयुक्त राष्ट्र ने एक बयान में कहा कि अगले हफ्ते आयोजित होने वाले अंतर्राष्ट्रीय शांतिरक्षक दिवस का यह लगातार सातवां साल होगा जिसमें शांति के लिए सेवा देने के दौरान मारे गए ऐसे 100 से अधिक नीले हेलमेट धारी शांति रक्षकों को संगठन सम्मानित करेगा। बंधक प्रकरण, हादसों और बीमारी के कारण 2014 में अपना जीवन गवां चुके सेना, पुलिस और नागरिकों से जुड़े 126 कर्मियों को मरणोपरांत यहां वैश्विक संस्था के मुख्यालय में आयोजित समारोह में मेडल दिया जाएगा। पिछले साल आठ भारतीय सैनिकों को मरणोपरांत यह पदक दिया गया था।संयुक्त राष्ट्र शांति सैनिकों में सेना और पुलिस कर्मियों के रूप में सर्वाधिक योगदान देने वालों में भारत भी शामिल है। कोट डील्वायर, साइप्रस, कांगो गणराज्य, हैती, लेबनान, लाइबेरिया, मध्य पूर्व, सूडान, दक्षिण सूडान और पश्चिम सहारा में इसके 8,112 सेना और पुलिसकर्मी शांति रक्षा अभियान के लिए तैनात हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: