राम मन्दिर का निर्माण आपसी सहमति से अवश्य होगा: उमा भारती

Jan Shakti Party President Uma Bharti Addressing a Press Conference in new delhi on Monday. Photo by Shekhar yadav 14/07/08
ऋषिकेश, 20 मई (हि.स.)। में राममन्दिर का निर्माण आपसी सहमती के आधार पर अवश्य होगा। जिसके लिए भूमिका तैयार की जा रही है। यह बात केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने यहां त्रिवेणी घाट पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। उमा भरती अर्द्धकुम्भ मेले से पूर्व गंगा में गिरने वाले गंदे नाले व सीवरों के रोके जाने के लिए स्थलीय निरीक्षण करने पहुंची थी। जिन्होने स्थलीय निरीक्षण करने के उपरान्त सम्बन्धित विभाग के तमाम अधिकारियों की बैठक कर गंगा मंे गिरने वाले तमाम गंदे नालों को रोके जाने के निर्देश भी दिए। उमा भारती ने कहा कि राम मन्दिर भारतीय जनतापार्टी के एजेण्डे में है लेकिन किन्ही कारणों से उस पर कार्य नहीं हो सका है लेकिन अब समय आ गया है जिसका निर्माण होकर रहेगा। जिसके लिए भूमिका तैयार की जा रही है और भारत के गृह मंत्री राजनाथ सिंह इस मुहिम को आगे बढ़ाने में लगे हैं। जिसका निर्माण आपसी सहमति के आधार पर ही किया जायेगा। इसी के साथ उन्होने कहा कि गंगा को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हे जिम्मेदारी सौंपी है। जिसकी सफाई पर चार वर्ष में करोड़ो रू. खर्च किया जाना है लेकिन वह इसकी सफाई पर वहीं खर्च करेगी जहां इसकी आवश्यकता होगी। पैसे का दुरूपयोग नहीं होेने दिया जायेगा। उमा भारती ने त्रिवेणी घाट पर निर्माणाधीन सीवर पम्पिंग स्टेशन व गंगा में गिरने वाले उस सरस्वती नाले जिसमें गिरकर एक नेत्रहीन युवक की मौत हो गई थी। चन्द्रेश्वर नगर से दयानन्द आश्रम के पीछे ढालवाला से गिरने वाले गंगा मंे गंदे नाले के साथ पूर्णानन्द उस घाट का भी स्थलीय निरीक्षण किया जहां मुर्दो को गंगा में बहाया जाता है।उनका कहना था कि गंगा स्वच्छता के मुद्दे पर केन्द्र व राज्य सरकार मिलकर कार्य कर रही हैं, यह कार्य बहुत ही कठिन है लेकिन चारवर्षों के अन्दर इसे पूर्ण कर लिया जायेगा। नमामि गंगे योजना के तहत इस योजना में सरकार का सहयोग किये जाने का उन्होने पूरा भरोसा देते हुए कहा कि मोदी सरकार के एक वर्ष के कार्यकाल में इस कार्य को गति दी गई है। गंगोत्री व बद्रीनाथ मंे भागीरथी व अलकनंदा में गिरने वाले नालों को टेप करने के लिए राज्य सरकार से प्रस्ताव मांगा है। जिसके शीघ्र प्राप्त होेते ही केन्द्र सरकार उस पर कार्य प्रारम्भ कर देगी। उन्होने देश मंे धर्म परिवर्तन जैसे मुद्दो पर बेबाकी से उत्तर देते हुए कहा कि धर्म परिवर्तन की बात दूसरे धर्म के लोग ही उठाते हैं। हिन्दू कभी धर्म परिवर्तन के पक्ष में नहीं रहे हैं। उसका लाभ उठाकर उस पर राजनीति की जा रही है। उमा भारती ने राहुल गांधी के सूट बूट वाले बयान पर चुटकी लेते हुए कहा कि चोर सूट बूट मंे ही नहीं खादी पहनकर भी आते हैं और राहुल अपने को मीडिया में बनाये रखने के लिए मोदी के विरूद्ध बयानबाजी देते हैं।
उमा भारती के साथ क्षेत्रीय विधायक प्रेमचन्द अग्रवाल विजया बड़थ्वाल भी थी जिनका त्रिवेणी घाट पहुंचने पर गंगा सेवा समिति सहित भाजपा के कार्यकर्ता स्नेहलता शर्मा, अनिता मंमगाई राजपाल ठाकुर चेतन शर्मा, कपिल गुप्ता पंकज गुप्ता, रवि शर्मा आदि ने स्वागत किया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: