सेमी हाईस्पीड ट्रेन गतिमान का उद्घाटन 5 अप्रैल को

 

सेमी हाईस्पीड ट्रेन गतिमान का उद्घाटन 5 अप्रैल को
सेमी हाईस्पीड ट्रेन गतिमान का उद्घाटन 5 अप्रैल को

डा. राधेश्याम द्विवेदी
आगरा. हजरत निजामुद्दीन से आगरा कैंट रेलवे स्टेशन के बीच देश की पहली सेमी हाईस्पीड ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस 5 अप्रैल से चलेगी। ट्रेन का उद्घाटन रेल मंत्री सुरेश प्रभु 5 अप्रैल को करेंगे। रेल मंत्री सुरेश प्रभु इसे हरी झंडी दि‍खाएंगे। यह ट्रेन हजरत निजामुद्दीन स्‍टेशन से आगरा कैंट रेलवे स्‍टेशन तक चलेगी।  दोनों स्टेशनों के बीच की दूरी तय करने में इसे 100 मिनट लगेगा। रेल मंत्रालय ने फ्लाइट की तरह इस ट्रेन में होस्टेस की व्यवस्था की है। ये यात्रि‍यों को नाश्ता सर्व करेंगी।

I. ट्रेन की खासि‍यत क्या है:-

1- इसकी अधिकतम रफ्तार 160 किमी प्रति घंटा होगी। यह 100 मिनट में हजरत निजामुद्दीन से आगरा कैंट स्टेशन पहुंचेगी।
2- गतिमान एक्सप्रेस में अल्ट्रा मॉडर्न 12 कोच, 593 सीटें चेयरकार ,100 सीटें एग्‍जीक्‍यूटिव क्‍लास , कुल 693 सीटें और 5400 हॉर्स पावर का इलेक्ट्रिक इंजन लगा है। इस कोच में झटके कम महसूस होंगे।
3- ट्रेन में फ्लाइट्स की तरह खास ड्रेस में होस्टेस रहेंगी। ये यात्रियों के लि‍ए नाश्‍ता सहि‍त कैटरिंग सुवि‍धा उपलब्‍ध करवाएंगी।
4- ट्रेन में वाई-फाई भी उपलब्ध होगी। यात्री अपने स्मार्टफोन पर गाने भी डाउनलोड कर सकेंगे।

5- गतिमान एक्‍सप्रेस वीक में 6 दिन चलेगी। सिर्फ शुक्रवार को यह नहीं चलेगी।
6- रेलवे अधिकारियों के अनुसार शुक्रवार को ट्रेन नहीं चलाने की वजह यह है कि‍ इस दिन ताजमहल बंद रहता है। इस दिन यात्रियों की संख्या कम होती है।
7- गतिमान एक्‍सप्रेस (12050) हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से सुबह 8.10 बजे चलेगी। यह आगरा कैंट स्‍टेशन पर सुबह 9.50 बजे पहुंचेगी। इस दौरान कहीं भी यह ट्रेन नहीं रुकेगी।
8- ट्रेन (12049 नंबर) शाम 5.50 बजे आगरा कैंट से रवाना होकर शाम 7.30 बजे हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्‍टेशन पहुंचेगी।

II. किराया कि‍तना होगा:-

1- हजरत निजामुद्दीन से आगरा के बीच गतिमान एक्सप्रेस का शुरुआती किराया 690 रु. होगा। चेयरकार का किराया 750 रुपए है।

2- एग्जीक्यूविट क्लास में के लिए 1365 रुपए का टिकट है। प्रथम श्रेणी एसी (ए‍क्‍जीक्‍यूटिव एसी) का किराया 1500 रुपए है।
3- जबकि भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस का किराया 540 और 1040 रु. है।
4- रेलवे सूत्रों का कहना है कि गतिमान एक्सप्रेस का किराया शताब्दी एक्सप्रेस से 25% ज्यादा होगा। कैटरिंग   सर्विस को और बेहतर बनाने के लिए किराया बढ़ाया गया है।

III.आगरा के पर्यटन उद्योग को कोई फायदा नहीं
गतिमान एक्सप्रेस के संचालन से आगरा के पर्यटन उद्योग को कोई फायदा नहीं होने वाला है। पर्यटन उद्यमियों का मानना है कि इस गाड़ी का फायदा दिल्ली की टूरिस्ट लॉबी उठाएगी। ट्रेन अगर शाम को आगरा आती तो पर्यटक शहर में रुकता। इससे पर्यटन जगत को फायदा होता।आगरा टूरिज्म डेवलपमेंट फाउंडेशन के अध्यक्ष संदीप अरोड़ा का कहना है कि इस ट्रेन से आगरा के टूरिज्म को कोई फायदा नहीं होगा। इससे तो केवल शताब्दी एक्सप्रेस का भार कम होगा। पर्यटन की दृष्टि से अच्छा तब होता जब गतिमान शाम को आगरा आती। सुबह दिल्ली से ताज एक्सप्रेस और शताब्दी पहले से ही संचालित हैं। पर्यटन उद्यमी राजीव तिवारी ने बताया कि नियमित उड़ानें नहीं होने की स्थिति में आगरा में आने वाले पर्यटकों को फ्लाइट दिल्ली से पकड़नी होती है। उन्हें फायदा होगा मगर इससे आगरा के पर्यटन उद्योग को कुछ नहीं मिलेगा। होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश चौहान का कहना है कि गतिमान एक्सप्रेस के चलने से आगरावासियों को सुविधा मिलेगी। शताब्दी में सीट मिलना मुश्किल होता था, मगर पर्यटन की दृष्टि से कोई लाभ नहीं है।
IV.हाईस्पीड कॉरिडोर का दफ्तर
पहली सेमी हाईस्पीड ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस कल से चलेगी। अब हाईस्पीड ट्रेनों के संचालन के लिए हाईस्पीड कॉरिडोर का दफ्तर बनाए जाने पर काम तेज हो गया है। सूत्रों की मानें तो यह दफ्तर आगरा या दिल्ली मंडल में बनेगा।  अगर आगरा में दफ्तर बनेगा तो आगरा मंडल का महत्व बढ़ जाएगा। बता दें कि दिल्ली-आगरा के बाद कानपुर-दिल्ली, चंडीगढ़-दिल्ली, मुंबई-गोवा, मुंबई-अहमदाबाद, नागपुर-सिकंदराबाद, नागपुर-बिलासपुर और चेन्नई-हैदराबाद, मैसूर-बंगलौर-चेन्नई रूटों पर भी सेमी हाईस्पीड ट्रेनों का संचालन किया जाना है। ऐसे में इन रूटों पर भी सर्वे किया जाएगा। कॉरिडोर का कार्यालय आगरा मंडल में बनाए जाने पर आगरा रेल मंडल के फ्लाइट्स की तरह इस ट्रेन में होस्टेस की व्यवस्था की गई है।

V.आगरा को जिम्मेदारी नहीं ,शताब्दी रोककर प्रदर्शन:-

गतिमान एक्सप्रेस के संचालन में आगरा मंडल के कर्मचारियों को कोई जिम्मेदारी नहीं दिए जाने से उनमें भारी गुस्सा है। रेलवे की दोनों यूनियनों एनसीआरईएस और एनसीआरएमयू के सदस्यों ने रविवार को आगरा कैंट पर शताब्दी एक्सप्रेस को रोककर प्रदर्शन किया। सोमवार शाम तक जवाब नहीं मिलने पर ट्रेनें नहीं चलाने की चेतावनी दी।आगरा मंडल में तैनात लोको पायलट, गार्ड्स और टिकट चेकिंग स्टाफ किसी को भी गतिमान एक्सप्रेस में ड्यूटी नहीं दी गई है। इससे गुस्साए कर्मचारियों ने सुबह आठ बजे कैंट पर शताब्दी एक्सप्रेस को पांच मिनट तक रोके रखा। अफसरों के खिलाफ नारेबाजी की। चेतावनी दी कि अगर सोमवार शाम तक आगरा मंडल के रनिंग स्टाफ को जिम्मेदारी नहीं दी गई तो डीआरएम का घेराव होगा। वहीं इंडियन रेलवे लोकोमोटिव रनिंग आर्गनाइजेशन के पीके शर्मा और ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि इस ट्रेन के ट्रायल आगरा मंडल के रनिंग स्टाफ ने कराए थे। अब उनके साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। एके दधीच, राजकुमार, आरडी त्यागी, अभय कुलश्रेष्ठ, राजेंद्र सिंह, उत्तम कुमार, हरिओम भारद्वाज, सुनील नागवंशी, राजेश त्रिपाठी, विमलेश पांडे, पीके शर्मा आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: