Posted On by &filed under राजनीति, समाज.


भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर करारा हमला बोलते हुए आज कहा कि सोनिया गांधी बताएं कि जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में लगे नारे अभिव्यक्ति की आजादी है या देशद्रोह। उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से भी अपना रुख साफ करने की मांग की और कहा कि गांधी को स्पष्ट करना चाहिए कि वह ऐसे नारों का समर्थन करते हैं या नहीं। यदि नारों से सहमत नहीं हैं तो उसकी निन्दा करें। वोट बैंक के लिए देशद्रोहियोंका समर्थन न करें।

उन्होंने कहा ‘‘राहुल जी वोट बैंक की राजनीति के लिए इतना नीचे मत उतरिए। यह देश हजारों शहीदों के जीवन की कुर्बानी के कारण आजाद हुआ। आप अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर देश को तोडऩे वाली ताकतों का समर्थन करते हैं।’’ राजा सुहेलदेव की मूर्ति का अनावरण करने के बाद शाह ने यहां आयोजित जनसभा में कहा कि पूरे देश ने देखा कि जे.एन.यू. में ‘‘भारत के टुकड़े-टुकड़े तक जारी रहेगी जंग, भारत की बर्बादी तक जारी रहेगी जंग, अफजल हम शर्मिदा हैं, तेरे कातिल जिन्दा हैं’’ जैसे नारे लगे।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि यह दुर्भाग्य ही है कि संसद में आज चर्चा हो रही है कि ये नारे अभिव्यक्ति की आजादी है या देशद्रोह। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कोई कुछ भी कहे देश विरोधी हरकतें किसी हालत में सहन नहीं की जाएंगी। उन्होंने कहा कि हर एक सांसद से पूछा जाना चाहिए कि क्या वह ऐसे नारों से सहमत हैं। default (10)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *