Posted On by &filed under अपराध, राजनीति, समाज.


हरियाणा में हाल में हुई हिंसा से भाईचारा खराब हुआ है लेकिन इसको पहले की भाँति स्थापित करना है। ये बात आर्ट ऑफ़ लिविंग एवम् सामाजिक संस्थाओं द्वारा आयोजित सद्भावना सभा में अंतरराष्ट्रीय संत श्री श्री रविशंकर  ने कही। श्री श्री 2 ने कहा कि उनसे जुड़े हुए लोग और सामाजिक संस्थाओ के लोग मिलकर अपने अपने स्तर पर समाज में पैदा हुई खाई को पाटने के लिए अभियान भी छेड़ेंगे।
रोहतक के शक्ति नगर के केशव पार्क में आयोजित कार्यक्रम में श्री श्री ने उपस्थित लोगो को संबोधित करते हुए कहा कि आंदोलन में उपजी हिंसा की वजह से समाज में उत्पन्न दरार को को सभी ने मिलकर भरना है। हर बिरादरी में अच्छे लोग भी होते हैं और बुरे लोग भी होते हैं। किसी बिरादरी में कुछ बुरे लोगों के होने से पूरे समाज को बुरा नहीं कहा जा सकता है। हरियाणा का इतिहास छत्तीस बिरादियों के सौहार्द व भाई चारे की मिसाल रहा है। जिसे अब सभी ने मिलकर कायम रखना है।

स्वामी परम चैतन्य, स्वामी कर्ण पुरी, आर्ट ऑफ़ लिविंग के प्रवक्ता राजू रंजन, सचिव रवि टक्कर, सामाजिक संस्थाओं के संयोजक मंजुल  पालीवाल, ए ओ एल की शिक्षिका अपर्णा बत्रा, ममता विज, वीना सचदेवा, भवन मिनोचा, अंजली गेरा, शिक्षक आर के बहल, संजय गुप्ता, गोबिंद राम सिंघल, डॉ कपिल, सुमित, ब्रह्म प्रकाश भरद्वाज, डॉ गोपाल सहित आर्ट ऑफ़ लिविंग,  परमार्थ स्वयंसेवी संगठन, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ,  प्राउड टू बी ए ब्लड डोनर अभियान, भारत विकास परिषद् आदि संस्थाओं के पदाधिकारियों व  कार्यकर्ताओं ने  उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *