Posted On by &filed under क़ानून.


images (1)मध्य प्रदेश में मैगी बिकेगी या नही, फैसला आज
भोपाल,। मध्यप्रदेश सहित देशभर में मैगी बिकेगी या नहीं इसका फैसला आज होगा। इस संबंध में फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एफएसएसएआई) की सेंट्रल एडवायजरी कमेटी ने सभी राज्यों के खाद्य एवं औषधि नियंत्रक आयुक्त की बैठक बुलाई है। बैठक में राज्यों से आई रिपोर्ट के आधार पर मैगी पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया जाएगा। मप्र सरकार पिछले 8 दिनों से मैगी की रिपोर्ट के इंतजार में बैठी है। राज्य सरकार मैगी पर अस्थाई प्रतिबंध लगाने को लेकर अब तक विचार नही कर पाई कर हैं। स्थिति स्पष्ट न होने के कारण मध्यप्रदेश में आज भी मैगी बिक रही है। ऐसे में सेहत के लिए अघोषित रूप से खतरनाक साबित हो चुकी मैगी की बिक्री प्रदेश के लाखों बच्चों पर भारी पड़ सकती है। हालांकि दिल्ली, केरल और उत्तराखंड राज्य ने बतौर सावधानी अपने यहां मैगी पर अस्थाई प्रतिबंध लगा रखा है।अभी तक जिन राज्यों में मैगी की जांच की गई है, वहां मैगी में लेड व मोनोसोडियम ग्लूटामेट की मिलावट पाई गई है। खाद्य एवं औषधि नियंत्रण विभाग के जिम्मेदार अफसरों का कहना है कि रिपोर्ट आने के बाद ही मैगी को लेकर नीतिगत फैसला लिया जाएगा। रिपोर्ट में देरी को लेकर अफसरों का कहना है कि इंदौर की चौकसी लैब में रिएजेंट न होने के कारण रिपोर्ट आने में देरी हो गई हैं। लैब संचालक ने गुरुवार को रिपोर्ट देने को कहा है। अधिकारियों का यह भी कहना है कि इस मामले में एफएसएसएआई सीधे मॉनिटरिंग कर रही है। उन्होंने एक जून तक सभी राज्यों से मैगी की रिपोर्ट मांगी थी, लेकिन इंदौर की निजी लैब से रिपोर्ट न मिलने के कारण इसे भेजा नहीं जा सका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *