Posted On by &filed under राजनीति.


modi_mujibur_759प्रधानमंत्री मोदी ने बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के सेनानियों को दी श्रद्धांजलि
ढाका,। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ढाका स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक गए और वहां 1971 के बांग्लादेश मुक्ति संग्राम में अद्भुत वीरता का प्रदर्शन करते हुए बलिदान देने वाले सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित की।बांग्लादेश की दो दिवसीय यात्रा पर यहां पहुंचने के तत्काल बाद मोदी ‘जातियो स्मृति शौधो’ (राष्ट्रीय शहीद स्मारक) गए और पाकिस्तान से स्वतंत्रता के लिए लड़ते हुए बलिदान देने वाले हजारों सेनानियों को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान सैन्य धुन बजाकर सेनानियों को नमन किया गया और मोदी ने स्मारक के समक्ष कुछ पल मौन खड़े होकर सम्मान प्रकट किया।सैन्य परंपरा के अनुरूप इस दौरान बांग्लादेश का ध्वज फहराया गया और उसे आधा झुका दिया गया। भारतीय प्रधानमंत्री ने पुष्पचक्र अर्पित किया। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय शहीद स्मारक ढाका से 35 किलोमीटर उत्तर पश्चिम में सावर में स्थित है और इसका डिजाइन सैयद मैनुल हुसैन ने किया है।मोदी ने ट्विट करके कहा कि अपनी यात्रा की शुरूआत 1971 के मुक्ति संग्राम के शहीदों को नमन करके कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि जातियो स्मृति शौधो की आधारशिला स्वयं बंगबंधु ने रखी थी। इसका डिजाइन विभिन्न प्रविष्ठयों में से प्रतिस्पर्धा के आधार पर चुना गया था। मोदी ने कहा कि इस स्मारक में सात विशिष्ठ त्रिकोण हैं जो बांग्लादेश के राष्ट्रीय आंदोलन के उन सात विभिन्न चरणों को रेखांकित करते हैं जिनसे स्वतंत्रता मिली।प्रधानमंत्री ने कहा, “स्मारक फर्श से अर्श तक पहुंचने की तासीर देता है। यह लोगों के साहस और प्रतिबद्धता का प्रतीक है।’’ स्मारक में सात त्रिकोणीय समद्विबाहु पिरामिड आकृति के ढांचे हैं जिसमें मध्य वाला सबसे बड़ा है और इसकी ऊंचाई 150 फुट है। मुख्य स्मारक के सामने कृत्रिम झील और कई सामूहिक कब्रें हैं।
प्रधानमंत्री मोदी बंगबंधु स्मारक संग्रहालय भी गए जो बांग्लादेश के संस्थापक शेख मुजीबुर रहमान को समर्पित है। इस स्मारक में उनकी निजी वस्तुओं को देखा जा सकता है। इससे पहले मोदी के ढाका पहुंचने पर उनका शानदार स्वागत किया गया। प्रोटोकाल से अलग हटते हुए प्रधानमंत्री शेख हसीना ने हवाई अड्डे पर उनकी आगवानी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *