Posted On by &filed under राजनीति.


Rahul-Gandhi1-PTIनाकाम हो चूकी है दिल्ली की सरकार: राहुल गांधी
नई दिल्ली,। राष्ट्रीय राजधानी में एक नयी राजनीति शुरु हो गई है जिसे कूड़ा पॉलिटिक्स कहा जा रहा है। इस कूड़ा पॉलिटिक्स में आज कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी भी कूद पड़े । आंदोलनरत सफाई कर्मचारियों तक पहुंच बनाते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने केन्द्र और दिल्ली सरकार पर अपने लंबे चौड़े वादे को पूरा करने में विफल रहने के लिए प्रहार किया। राहुल गांधी हड़ताली सफाई कर्मचारियों के धरने में शामिल हुए और उन्हें आश्वस्त किया कि वे अब उनकी मेरी ‘जिम्मेदारी’ हैं । सफाई कर्मचारी वेतन बकाये का भुगतान न होने के विरोध में दो जून से हड़ताल पर हैं ।
कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, ‘आप दिल्ली सरकार के पास जाएं तो वह कहते हैं कि केन्द्र जिम्मेदार है । आप केन्द्र सरकार के पास जाए तो वह कहते हैं दिल्ली सरकार जिम्मेदार है । ये सब बहाने हैं और आपको तब तक कुछ नहीं मिलेगा जब तक कि आप अपनी ताकत नहीं दिखायेंगे । और मैं यह स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि मैं आपकी जिम्मेदारी उठाउंगा ।’ राहुल गांधी ने कहा,‘आपके साथ बैठकर, मैं भी अपनी थोड़ी सी ताकत इसमें जोड़ रहा हूं । मेरे पास समय है । आप मुझे बताये और मैं यहां एक घंटे, दो घंटे या यहां तक कि दस घंटे बैठने को तैयार हूं । आपने सही दिशा में कदम उठाया है। मांगने से आपको कुछ नहीं मिलेगा । आपको संगठित होना होगा और अपनी ताकत दिखानी होगी ।’
राहुल गांधी ने यहां पटपड़गंज में पूर्वी दिल्ली नगर निगम के हड़ताली सफाई कर्मचारियों से मुलाकात की, जहां उनका कार्यालय स्थित है और उनसे कहा कि वह ताकत और एकता प्रदर्शित करें ताकि उनके मुद्दों का समाधान हो । उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारी जब दिल्ली सरकार और केन्द्र सरकार के पास जाते हैं तो ये दोनों अपनी जिम्मेदारी एक दूसरे पर टालते हैं । उन्होंने कहा कि ऐसे ‘बहानों’ से कर्मचारियों का भला नहीं होने वाला है ।
सफाई कर्मचारियों के आंदोलन में राहुल के साथ कांग्रेस के दिल्ली मामलों के प्रभारी पी सी चाको और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन भी थे । सफाई कर्मचारी वेतन बकाये का भुगतान न होने के विरोध में दो जून से हड़ताल पर हैं, जिसके चलते सड़कों पर कूड़े का अंबार लग गया है और निवासियों को काफी कठिनाई हो रही है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *