Posted On by &filed under राजनीति.


kantilal-bhuria-in-a-ceremonyअाडवाणी जी का बयान उनकी अंतरात्मा की आवाज- भूरिया
रतलाम,। पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया ने कहा कि भाजपा के वयोवृद्ध नेता आडवानी ने देश में आपातकाल संबंधी जो वक्तव्य दिया है यह उनकी अंतरात्मा की आवाज है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में जो हालात पैदा हो रहे है इससे उन्हें लगता है कि यह ठीक नहीं है और हिटलरशाही की स्थिति पैदा हो रही है।भूरिया ने यह बात पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही। उन्होंने कहा कि भाजपा में अंदर जो भी कुछ हो रहा है वह ठीक नजर नहीं आता। मोदीजी के कार्यप्रणाली से उनकी पार्टी में ही विद्रोह की स्थिति बन रही है। उन्होंने ललित मोदी को संरक्षण दिए जाने के मामले में सुष्म स्वराज और राजस्थान की मुख्यमंत्री को भी उन्होंने आड़े हाथों लिया और कहा कि 2010 में यूपीए सरकार ने ललित मोदी का पासपोर्ट जप्त कर लिया था और भगोड़ा घोषित किया था। सिंधिया के पुत्र ने 10 रुपए के शेयर पर 1 लाख रुपए का मुनाफा कमाकर करोड़ों रुपए का लाभ मोदी से प्राप्त किया। जब उनसे पूछा गया कि राजीव शुक्ला भी इसमें लिप्त है तो उन्होंने कहा कि जो भी दोषी है उन पर कार्रवाई होना चाहिए और सुष्मा स्वराज और सिंधिया से त्यागपत्र लिया जाना चाहिए।मोदी सरकार की एक साल की उपलब्धियों के संबंध में उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार की योजनाएं ही आगे बड़ी है और उसकी ही वाह-वाही वह ले रहे है। नया कुछ भी नहीं है। उन्होंने स्वीकार किया कि कांग्रेस विरोधी पक्ष की भूमिका का निर्वाह नहीं कर पा रही है,लेकिन जनता भाजपा की नीतियों से अभी से उबने लगी है। कांग्रेस हर स्तर पर विरोध कर रही है। जो नीतियां कांग्रेस को गलत लगती है संख्या के आधार विरोध का महत्व नहीं होता। भले ही कम कांग्रेसी हो लेकिन सही बात के लिए हम संघर्षरत है।रेल समस्या की ओर भूरिया का ध्यान आकर्षित किया
रेलवे से संबंधित समस्याओं की ओर भूरिया ने ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि रतलाम-नागदा-उज्जैन के बीच बंद हो रही ट्रेनों के संबंध वे मंडल प्रबंधक से चर्चा करेंगे, साथ ही रतलाम-फतेहाबाद-इंदौर के बीच डेमू ट्रेनों के समय परिवर्तन संबंध में भी चर्चा करेंगे। उन्हें शिकायत मिली है कि यह समय सारणी यात्रियों के लिए लाभदायक नहीं है। इसके समस्या का निराकरण नहीं होगा। डेमू ट्रेनों में कोचेस बढ़ाने की बात भी हमारे सामने आई है। मंडल प्रबंधक के साथ ही इस संबंध में वे रेलमंत्री से भी चर्चा करेंगे ताकि रेल यात्रियों की समस्याओं का निराकरण हो।ननि से संबंधित समस्याओं के लिए कलेक्टर से चर्चा कीभूरिया ने पत्रकारों को बताया कि रतलाम शहर की मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए तथा नगरपालिक निगम में व्याप्त अनियमितताओं के संबंध में आज कलेक्टर से मिलकर उनका ध्यान आकर्षित किया है। उन्होंने बताया कि शहर की जलप्रदाय योजना यूआईडीएसएसएमटी जिसके माध्यम से सम्पूर्ण शहर में पानी दिया जाना था पूरी नहीं हो पाई है। इस योजना की जांच कराई जाए। जनता से 30 दिन का पैसा लिया जाता है और 15 दिन पानी दिया जाता है। उसमें भी 10-11 दिन ही पानी मिल पा रहा है। सफाई व्यवस्था, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, वृद्धापेंशन सहित अन्य हितग्राहियों को मिलने वाली पेंशन कई माह से नहीं मिल पा रही है, जिसके कारण लोग परेशान है। लोक सेवा योजना के अंतर्गत आने वाले हितग्राहियों के आवेदन फार्म बीना जांच के निरस्त किए जा रहे है। बीपीएल के कार्ड में भी अनियमितता की जा रही है। निगम में रिक्त पदों पर भर्ती नहीं होने से सारा कार्य प्रभावित हो रहा है। जो लोग 20-25 वर्षों से दैनिक वेतन भोगी पर कार्य कर रहे है उन्हें रिक्त पदों पर नियुक्त किया जाए। कांग्रेस पार्षदों द्वारा की जा रही शिकायतों तथा कार्यों पर आयुक्त ध्यान नहीं देते और अभद्र व्यवहार करते है उनका व्यवहार सुधारा जाए। इसके साथ ही निगम से जुड़ी अनेक समस्याओं की ओर भी भूरिया के नेतृत्व में दिए गए ज्ञापन में ध्यान आकर्षित किया गया। पत्रकार वार्ता में शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनोद मिश्रा मामा व डा. विक्रांत भूरिया व प्रमोद गुगालिया सहित कांग्रेसजन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *