असम में फिर से बाढ़ का कहर, 27,000 लोग प्रभावित

OB-US274_iflood_H_20120925061831असम में फिर से का कहर, 27,000 लोग प्रभावित
गुवाहाटी,। असम में एक बार फिर से बाढ़ की का कहर देखा जा रहा है। लगभग 72 गांवों के 27,000 से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। असम स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट अथारिटी (एएसडीएमए) की ओर से जारी बाढ़ की रिपोर्ट के अनुसार असम के बरपेटा, धेमाजी, तिनसुकिया, मोरीगांव एवं लखीमपुर जिलों के 72 गांवों के 27,000 लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। बीते रविवार तक 62 गांवों के 19,100 लोग बाढ़ से प्रभावित हुए थे।
राज्य में आई दूसरी बार की बाढ़ में सबसे अधिक प्रभावित लखीमपुर जिला है जहां पर 16,000 लोगों को बाढ़ के चलते अपने घर को छोड़कर सुरक्षित स्थानों की ओर पलायन करना पड़ा है। उसके बाद धेमाजी जिला है जहां पर 4,600 लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। एएसडीएमए की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि प्रशासन की ओर से बाढ़ प्रभावितों के लिए तिनसुकिया जिला में तीन सहायता शिविर खोले गए हैं। जहां पर कुल 198 लोग आश्रय लिए हुए हैं।बाढ़ में लगभग 1,600 हेक्टेयर खेतों में खड़ी फसल बाढ़ के पानी में डूब गई है। ज्ञात हो कि राज्य में आई पहली बाढ़ में कुल तीन लोगों की मौत हुई थी, जिसमें बंगाईगांव, लखीमपुर और बाक्सा जिला में एक-एक व्यक्ति की मौत बाढ़ क चलते हुई थी। सूत्रों ने बताया है कि ब्रह्मपुत्र नद जोरहाट जिले के निमाती घाट में खतरे के निशान के पास बह रही है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: