Posted On by &filed under अपराध, दिल्ली, राजनीति, राज्य से.


मिश्रा ने ‘आप’ पर हमले को लेकर झूठ फैलाने का आरोप लगाया

मिश्रा ने ‘आप’ पर हमले को लेकर झूठ फैलाने का आरोप लगाया

दिल्ली सरकार के बख्रास्त मंत्री कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी यह ‘झूठ’ फैला रही है कि जिस व्यक्ति ने उन पर हमला करने की कोशिश की, वह भाजपा की युवा शाखा से था।

‘अनिश्चितकालीन अनशन’ पर बैठे मिश्रा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को एक अन्य पत्र लिखकर यह आरोप लगाया कि हमलावर अंकित भारद्वाज स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के अधिकारक्षेत्र में आने वाली मोहल्ला क्लीनिक परियोजना से जुड़ा है।

इस पत्र में मिश्रा ने दावा किया कि जिस तरह ‘आप’ के नेताओं और स्वयंसेवियों ने फौरन भारद्वाज को भाजपा का कार्यकर्ता बता दिया, उससे यह संदेह होता है कि इस पूरे प्रकरण की कहानी को ठीक उसी तरह लिखा गया, ‘‘जिस तरह पूर्व में आप :केजरीवाल: पर हुए हमलों की कहानी को गढ़ा गया था।’’ उन्होंने पूछा, ‘‘जिस तरह से फेसबुक फोटो साझा किए गए और बयान दिए गए, वे मुझे याद दिलाते हैं कि जब आप पर :केजरीवाल पर: हमले होते थे, तब भी ऐसा ही होता है। क्या यह पुराना हथकंडा है?’’ कल मिश्रा के प्रदर्शनस्थल पर उस समय हंगामा हो गया था, जब भारद्वाज ने वहां धावा बोल दिया और मिश्रा के साथ मारपीट करने की कोशिश की। पुलिस अधिकारियों और मिश्रा के सहयोगियों ने भारद्वाज को पकड़ लिया।

कुछ ही मिनटों में आप के सोशल मीडिया के कार्यकर्ताओं ने एक फेसबुक प्रोफाइल की तस्वीरें साझा करनी शुरू कर दीं। उन्होंने यह साबित करने की कोशिश की कि हमलावर भाजपा की युवा शाखा का कार्यकर्ता है और मिश्रा ने ऐसा सहानुभूति हासिल करने के लिए कराया है।

हालांकि भारतीय जनता युवा मोर्चा ने भारद्वाज के साथ किसी भी रिश्ते से इनकार किया है।

मिश्रा ने लिखा, ‘‘पुलिस द्वारा उसे वहां से ले जाए जाने से पहले ही आप नेता संजय सिंह ने यह घोषणा कर दी कि वह भाजपा का कार्यकर्ता है। ऐसा लग रहा था कि पार्टी ऐसा कुछ होने का इंतजार ही कर रही थी।’’ मंत्री पद से हटाए जाने और पार्टी से निलंबित किए जाने के बाद मिश्रा ने अनशन शुरू करते हुए यह मांग रखी कि आम आदमी पार्टी अपने पांच नेताओं द्वारा किए गए विदेश दौरों का विवरण दे। पार्टी ने मिश्रा पर आरोप लगाया है कि वह भाजपा द्वारा लिखी गई कहानी पर चल रहे हैं।

( Source – PTI )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *