बिहार चुनाव में ‘आप’ दे सकती है नीतीश का साथ

IMG-20141207-WA0013बिहार चुनाव में ‘आप’ दे सकती है नीतीश का साथ
नई दिल्ली, केंद्र और दिल्ली सरकार के मध्य तनाव और रस्साकशी बढ़ने के बीच, आम आदमी पार्टी :आप: को ‘‘टैक्टिकल सपोर्ट’’ दे सकती है। पार्टी ने बिहार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है।आप के एक वरिष्ठ नेता ने नाम न उजागर करने की गुजारिश पर बताया कि पार्टी के खिलाफ प्रचार करेगी और अगर जरूरत पड़ी तो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी जंग में कूद सकते हैं।नेता ने कहा, ‘‘ हम पहले ही यह स्पष्ट कर चुके हैं कि हम बिहार चुनाव लड़ने नहीं जा रहे हैं, लेकिन हम निश्चित रूप से के खिलाफ प्रचार करेंगे और लोगों को बताएंगे कि कैसे नरेंद्र मोदी सरकार हमें काम नहीं करने दे रही है और दिल्ली सरकार के कामकाज में अड़चने पैदा कर रही है।‘‘ उन्होंने कहा, ‘‘ केंद्र और दिल्ली सरकार के बीच मौजूद रस्साकशी अगर बंद नहीं हुई तो अरविंद :केजरीवाल: और नरेंद्र मोदी के खिलाफ व्यापक अभियान चला सकते हैं। हमारे पार्टी के नेता और राज्य कैडर भी खुद को इस प्रचार में शामिल करेंगे।’’ उन्होंने कहा कि राज्य में आप का जनाधार नहीं है लेकिन पार्टी के कुछ प्रत्याशियों के लिए परेशानी जरूर पैदा कर सकती है।पार्टी नेता ने कहा, ‘‘ भले ही हमारी असरदार संख्या न हो लेकिन हम तीन-चार प्रतिशत मतदाताओं को प्रभावित करने की क्षमता रखते हैं। इससे की संभावनाओं को नुकसान पहुंच सकता है जो संभवत: मोदी के नाम पर बिहार का चुनाव लड़ेगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: