Posted On by &filed under राजनीति.


उत्तर प्रदेश में योगी का गौ-रक्षा अभियान पूरे देश में मिसाल बनेगा : गोरखपीठ महंत

उत्तर प्रदेश में योगी का गौ-रक्षा अभियान पूरे देश में मिसाल बनेगा : गोरखपीठ महंत

देश की बड़ी एवं प्राचीन गोरखपीठों में से एक संजय वन दिल्ली स्थित गोरखपीठ के महंत योगी सरपंच नाथ का विश्वास है कि योगी आदित्यनाथ के देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद अब गौ-हत्या निषेध की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाये जायेंगे और उनका गौ-रक्षा मॉडल पूरे देश के लिए मिसाल बनेगा।

महंत योगी सरपंच नाथ ने ‘भाषा’ से बातचीत में कहा कि गोरखपुर मठ के महंत योगी आदित्यनाथ का उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री चुना जाना हमारे लिए अत्यंत खुशी और गौरव का विषय है।

उन्होंने विश्वास जताया कि आदित्यनाथ अपने प्रशासनिक कौशल के दम पर उत्तर प्रदेश के बेहतरीन मुख्यमंत्री साबित होंगे। वे प्रदेश की जनता में बिना किसी भेदभाव के चहुमुंखी विकास करेंगे।

सरपंच नाथ ने कहा कि देश का संत-समाज लंबे समय से गौ-हत्या निषेध के लिए प्रयासरत था लेकिन उनकी आवाज को केन्द्र और राज्य सरकारों द्वारा कभी ज्यादा महत्व नहीं दिया गया। अब आदित्यनाथ जैसे युवा सन्यासी के मुख्यमंत्री बनने पर हमारे गौ-रक्षा आंदोलन को नयी ताकत मिली है।

उन्होंने आदित्यनाथ सरकार के अवैध बूचड़खानों पर रोक लगाने के अभियान पर संतोष जताते हुए कहा कि अभी इसके लिए उन्हें पर्याप्त समय दिया जाना चाहिए।

उन्होंने बताया कि आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार गोरखपुर मठ पहुंचने पर दिल्ली गोरखपीठ की तरफ से उनकी अगवानी करने उनके शिष्य बालकनाथ गोरखपुर जा रहे है। वे अगले महीने यहां दिल्ली मठ में होने वाले संत-समागम के लिए भी योगी को आमंत्रण देंगे।

सरपंच नाथ ने आदित्यनाथ के साथ अपनी यादें ताजा करते हुए कहा कि वे समय के बड़े ही पाबंद है और अपने सिद्धांतों के साथ कभी समझौता नहीं करते।

उन्होंने कहा कि आदित्यनाथ अबकी बार जब भी दिल्ली आयेंगे, उनसे संजय वन का नाम बदलकर योगी गोरखनाथ वन करने और मठ की गायों के लिए एक बेहतरीन सुविधाओं वाली गौशाला के लिए जमीन प्रदान करने की मांग की जायेगी।

( Source – PTI )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *