डॉ.शंकर सुवन सिंह को मिलेगा हिंदी सेवा सम्मान

हिंदी सेवा को समर्पित प्रभासाक्षी न्यूज़ २६ अक्टूबर २०२१  को  अपनी २०वीं वर्षगाँठ मना रहा है| प्रभासाक्षी न्यूज़ द्वारा विचार संगम नामक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है| इस आयोजन के तहत विभिन्न परिचर्चाओं के माध्यम से विभिन्न मंत्रीगण,सांसद,राजनीतिक दलों के प्रवक्ता तथा मीडिया से जुड़े प्रतिष्ठित लोग अपने विचार रखेंगे| इस अवसर पर हिंदी सेवा सम्मान के लिए देश के जाने-माने लेखकों व पत्रकारों का चयन किया गया है| जिनमे प्रमुख रूप से डॉ.शंकर सुवन सिंह (प्राध्यापक, वरिष्ठ स्तम्भकार एवं विचारक ), स्वदेश के सम्पादक अक्षत शर्मा, वीणा के सम्पादक डॉ.राकेश शर्मा, यू.एन.आई के पूर्व ब्यूरो प्रमुख सुरेंद्र दुबे, पी.टी.आई.के पूर्व ब्यूरो प्रमुख प्रमोद गोस्वामी, डॉ.इंदिरा दांगी(साहित्यकार, अशोक मधुप (वरिष्ठ पत्रकार)आदि हैं |

डॉ.शंकर सुवन सिंह(वरिष्ठ स्तम्भकार एवं विचारक)प्रयागराज के नैनी स्थित सैम हिग्गिनबॉटम यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चर,टेक्नोलॉजी एंड साइंसेज में सहायक प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं| इनकी “आलेखों से निकलती राहें” नामक पुस्तक ने साहित्य जगत में अमिट छाप छोड़ी है| देश के प्रतिष्ठित दैनिक हिंदी/अंग्रेजी समाचार पत्रों में इनके ५००० से ऊपर सम्पादकीय लेख प्रकाशित हो चुके हैं| हिंदी सेवा सम्मान के लिए डॉ.शंकर सुवन सिंह का चुना जाना, प्रयागराज की गरिमा को बढ़ाता है|

Leave a Reply

24 queries in 0.181
%d bloggers like this: