प्रौद्योगिकी के सहारे बिजली से जुड़े मुद्दों के समाधान की तैयारी

प्रौद्योगिकी के सहारे बिजली से जुड़े मुद्दों के समाधान की तैयारी
प्रौद्योगिकी के सहारे बिजली से जुड़े मुद्दों के समाधान की तैयारी

में बिजली कनेक्शन से लेकर बिजली आपूर्ति की तमाम समस्याओं तक सभी मुददों के हल के लिए प्रौद्योगिकी का अधिक से अधिक सहारा लेने की योजना तैयार है ।

प्रदेश के उर्जा मंत्री ने आज ‘भाषा’ से विशेष बातचीत में कहा, ‘हमारा फोकस तकनीकी पर है और हम चाहते हैं कि बिजली से जुड़े सभी मुद्दों के समाधान के लिए अधिक से अधिक निर्भरता तकनीकी पर हो ।’ उन्होंने कहा, ‘बिजली कनेक्शन ऑनलाइन हो, कनेक्शन अपग्रेड करना है तो वह प्रक्रिया भी ऑनलाइन हो सके तथा बिजली आपूर्ति को लेकर कोई शिकायत है तो भी उसका निराकरण कर ऑनलाइन उपभोक्ता तक सूचना पहुंचे …. हमारा अधिक जोर अब इसी बात पर है।’ प्रदेश में इन दिनों नगर निकाय चुनावों की प्रक्रिया चल रही है और खुद शर्मा भी प्रत्याशियों के समर्थन में व्यापक प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि सभी नगर निकायों की स्ट्रीट लाइटों को एलईडी में परिवर्तित किया जाएगा।

शर्मा ने बताया कि शहरों की खराब लाइट 48 घंटे में बदलने की व्यवस्था होगी जबकि कार्यालयों, स्कूलों और अस्पतालों में सौर पैनल से भी बिजली मुहैया करायी जाएगी।

उल्लेखनीय है कि बिजली से जुड़ी समस्याओं के लिए उर्जा मंत्रालय ने टोल फ्री नंबर 1912 या बिजली वितरण कंपनियों के 1800 सीरीज के नंबर मुहैया कराये हैं।

​शर्मा ने बताया कि उनके मंत्रालय ने बिजली बिलों के ऑनलाइन भुगतान की प्रक्रिया को भी सरल बना दिया है। ग्रामीण और शहरी उपभोक्ता रजिस्ट्रेशन या लॉग इन आईडी ना होने पर भी बिल का ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं । सिर्फ बिजली बिल पर दर्ज कनेक्शन नंबर या अकाउंट नंबर का होना पर्याप्त है ।

( Source – PTI )

Leave a Reply

%d bloggers like this: