FFDD : Making India A More Evolved Democracy

फोरम फॉर डेमोक्रेटिक डायलॉग

अपील

फोरम फॉर डेमोक्रेटिक डायलॉग ने आज दिल्ली के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में राउंड टेबल गोष्ठी की। इस गोष्ठी में देश भर के अलग-अलग क्षेत्रों मसलन विधि, पत्रकारिता, लेखक, साहित्यकार, सेना के पूर्व अफसर, रक्षा विशेषज्ञ, समाजसेवी, प्रोफेसर्स, चिंतकों समेत समाज के सभी वर्गों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

गोष्ठी का विषय था – Making India A More Evolved Democracy

व्यापक विमर्श और चिंतन, मनन के बाद फोरम फॉर डेमोक्रेटिक डायलॉग देश के सभी राजनीतिक दलों, उम्मीदवारों और मतदाताओं को अपील करता है

  1. हर उम्मीदवार और राजनीतिक दल अपने प्रचार के दौरान मर्यादित भाषा का इस्तेमाल करे। साथ ही मीडिया भी, विशेषकर डिबेट के दौरान भाषा को लेकर संयम बनाए रखे। जिस प्रकार से प्रधानमंत्री जैसे पद पर बैठे व्यक्ति के खिलाफ अर्मायदित भाषा का इस्तेमाल किया गया। फोरम उसकी निंदा करता है। साथ ही सभी पार्टियों और उनके नेताओं को भाषा में संयम बरतने की अपील करता है।
  • मर्यादित आचरण – फोरम अपील करता है कि हम असहमति को भी पूरी तरह से सम्मान दें।
  • नैतिक मूल्यों का सम्मान करें – आज भारतीय लोकतंत्र जिस दिशा में आगे बढ़ रहा है, जिस प्रकार से नैतिकता का क्षरण हुआ है, वो दुर्भाग्यजनक है। भारतीय संस्कृति, सभ्यता और परंपरा के अनुरूप फोरम अपील करता है कि हम सबके लिए देश सर्वोपरी होना चाहिए। इसके बाद दल और सामाजिक संगठन का स्थान होना चाहिए। और आखिर में व्यक्ति का खुद का स्थान होना चाहिए।
  • अपना वोट डालते समय जाति, धर्म, क्षेत्र की बजाए देशहित को प्राथमिकता दें।
  • सेना के प्रति पूर्ण आस्था और सम्मान की अभिव्यक्ति हो।
  • सोशल मीडिया पर, विशेषकर व्हाट्सएप, फेसबुक और ट्विटर पर भ्रामक एवं झूठी सूचनाओं से बचें और अपना निर्णय करें।
  • फोरम देश के सभी मतदाताओं से अपील करता है कि आप अपने राष्ट्रीय कर्तव्य का निर्वहन करते हुए अवश्य वोट देने जाएं, कृप्या नोटा से बचें।
  • फोरम चुनाव आयोग से अपील करता है कि सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाह और फेक न्यूज पर निगरानी के लिए उचित व्यवस्था करें।

इस गोष्ठी में पद्मश्री व वरिष्ठ पत्रकार राम बहादुर राय, वरिष्ठ विचारक के.एन. गोविंदाचार्य, पूर्व चीफ जस्टिस न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) प्रमोद कोहली, पूर्व जज न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) शोभा दीक्षित, सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के वर्तमान अध्यक्ष राकेश खन्ना, सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष रुपिंदर सिंह सूरी, भारतीय वायु सेना से सेवानिवृत्त एयर मार्शल आर. सी. वाजपेयी, भारतीय वायु सेना से सेवानिवृत्त एयर कमोडोर रंजन मुखर्जी, समाजसेवी संतोष तनेजा, संविधान विशेषज्ञ चन्द्रशेखर प्राण, इंडिया फाउंडेशन के डायरेक्टर आलोक बंसल, शिक्षाविद हेमन्त गोयल, वरिष्ठ पत्रकार और लेखक डॉ हरीश चन्द्र बर्णवाल और पत्रकार भारत भूषण शामिल थे ।

सादर

फोरम फॉर डेमोक्रेटिक डायलॉग

Leave a Reply

%d bloggers like this: