Posted On by &filed under अपराध.


कन्नूर में माकपा और भाजपा कार्यकर्ताओं में भिडंत, निषेधाज्ञा लागू

कन्नूर में माकपा और भाजपा कार्यकर्ताओं में भिडंत, निषेधाज्ञा लागू

केरल में एलडीएफ की चुनावी जीत के बीच बीती रात कन्नूर जिले में कई स्थानों पर माकपा और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़पें हुईं, जिनमें कम से कम 30 लोग घायल हो गए। इसके बाद जिले में निषेधाज्ञा लागू कर दी गई।

पुलिस ने कहा कि झड़पों में भाजपा के 24 और माकपा के छह कार्यकर्ता घायल हुए हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

उन्होंने बताया कि पनूर, धर्मादम, थालास्सेरी और पिनरई में दोनों दलों के कार्यकर्ताओं ने कल रात एक-दूसरे पर हमला किया।

कुछ भाजपा कार्यकर्ताओं के घरों पर देसी बम फेंके गए और वाहनों को भी नष्ट कर दिया गया ।

कन्नूर वाम दल का गढ़ है।

माकपा नीत एलडीएफ की जिले में कल निकाली गई विजय रैलियों में दो देसी बम फेंके गए जिससे एक व्यक्ति की मौत हो गई और आठ अन्य घायल हुए हैं ।

माकपा कार्यकर्ता के मारे जाने के कारण धर्मादम में आज आधे दिन का बंद रखा गया है । पिनरई विजयन इसी निर्वाचन क्षेत्र से जीते हैं जो माकपा पोलित ब्यूरो के सदस्य और मुख्यमंत्री पद के आकांक्षी हैं ।

उत्तरी कासरगोड़ जिले के कुछ स्थानों से भी माकपा-भाजपा और माकपा-आईयूएमएल कार्यकर्ताओं के बीच झड़पों की खबरें आईं। इसके बाद कासरगोड़, कान्हागढ़ और मंजेश्वरम में निषेधाज्ञा लागू कर दी गई।

कल जारी चुनावी नतीजों के अनुसार, माकपा नीत एलडीएफ बहुमत के साथ सत्ता में लौटा है । यह कांग्रेस नीत यूडीएफ के लिए बड़ा झटका है। राज्य में अपना खाता खोलकर भाजपा इतिहास रचने में कामयाब रही है।

राज्य की 140 सदस्यों वाली विधानसभा में एलडीएफ ने 91 सीटें, यूडीएफ ने 47, भाजपा और निर्दलीय उम्मीदवारों ने एक-एक सीट जीती है ।

( Source – पीटीआई-भाषा )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *