भाजपा-आप कर रही कूड़े की राजनीति

434029भाजपा- कर रही की
नई दिल्ली,। दिल्ली में कूड़े की राजनीति बदस्तूर जारी है। कूड़ा फैंके जाने के समय नगर निगम में शासन कर रही भाजपा और दिल्ली की गद्दी संभाल रही आम आदमी पार्टी (आप) ने कूड़ा उठाने की जहमत नहीं उठाई थी वहीं आज जब 12 दिन की हड़ताल के बाद पूर्वी निगम के सफाई कर्मचारी काम पर लौट आये हैं तब दोनों दलों में कूड़ा उठाने को लेकर होड़ मची हुई है। हालांकि कई इलाकों में आप नेताओं को स्थानीय लोगों के विरोध का सामना भी करना पड़ा । उनका कहना है कि आप नेता केवल दिखावा कर रहे हैं। दिल्ली सरकार द्वारा तीन माह का वेतन जारी करने की घोषणा के बाद पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सफाई कर्मचारियों ने शुक्रवार देर शाम हड़ताल खत्म करने की घोषणा के साथ ही यमुनापार की सड़कों पर फैले कूड़े को रातों रात उठाने की कवायद शुरू कर दी। कई इलाकों में रात के समय निगम कर्मियों को कूड़ा उठाते देखा गया। वहीं आज आप ने राजधानी में सफाई अभियान की शुरूआत कर दी। आप विधायक और पार्टी नेता दिल्ली के विभिन्न इलाकों में झाड़ू लगाकर सफाई करते देखे गये। मटियाला में निगम कर्मचारियों के साथ आप कार्यकर्ताओं ने झाडू लगाया। ऐसे में भाजपा कहां पीछे रहने वाली है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय के नेतृत्व में पूर्वी दिल्ली के पार्टी कार्यकर्ताओं ने अक्षरधाम मंदिर के नजदीक धोबी घाट पर कूड़ा उठाया। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पटपड़गंज में, पार्टी नेता आशुतोष और विधायक अलका लांबा ने चांदनी चौक में, संजय सिंह ने हरिनगर में, वंदना कुमारी ने शालीमार बाग में, जरनैल सिंह ने तिलक नगर में बाहरी रिंग रोड पर झाडू लगाया और कूड़ा उठाया। इसके अलावा करोल बाग, संगम विहार, रिठाला, नांगलोई, छतरपुर आदि अन्य विधानसभा क्षेत्रों में भी स्थानीय विधायकों ने श्रमदान किया। हालांकि, कुछ इलाकों में स्थानीय लोगों ने इसका विरोध भी किया। विरोधियों का कहना है कि जब सफाईकर्मी काम पर लौट आए हैं तो आप के नेता फोटो खिंचवाने की नौटंकी करने को सड़कों पर उतर आए हैं। कृष्णानगर इलाके में सफाई करने पहुंचे विधायक एस के बग्गा और उनके समर्थकों को स्थानीय लोगों ने सफाई करने से रोक दिया। इसी दौरान दोनों पक्षों के बीच कहासुनी हो गई और जमकर नारेबाजी करने लगे। बलदेव पार्क इलाके में सफाई करने पहुंचे आशीष खेतान और उनके समर्थकों को स्थानीय लोगों ने सफाई करने से रोक दिया।आप नेताओं के स्वच्छता अभियान को नौटंकी और दिखावा बताये जाने पर सिसोदिया ने कहा कि हमने सफाई कर्मचारियों की मदद के लिए झाड़ू उठाया है। दिल्ली सरकार के पास उन्हें देने के लिए पैसे नहीं हैं, इसके बावजूद हमने उन्हें वेतन देने के लिए कुछ फंड जारी किया है। यदि भाजपा निगम कर्मियों को सैलरी नहीं दे सकती तो हम न केवल उन्हें सैलरी देंगे बल्कि सफाई में उनकी मदद भी करेंगे। वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने कहा अरविंद केजरीवाल शासन चलाने में पूरी तरह से विफल हो गए हैं। वह सरकार चलाने के बजाय एलजी, केंद्र और दूसरों से लड़ाई में व्यस्त हैं। उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को उपराज्यपाल नजीब जंग ने दिल्ली नगर निगम सफाई कर्मचारियों के वेतन के लिए 493 करोड़ का फंड जारी कर दिया था।

Leave a Reply

%d bloggers like this: