दो दिवसीय भोपाल प्रवास पर सरसंघचालक मोहन भागवत

भोपाल – राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहन भागवत दो दिवसीय प्रवास पर भोपाल आ रहे हैं। यहाँ वे क्षेत्र के प्रमुख कार्यकर्ताओं के साथ व्यक्तिगत संवाद करेंगे तथा कोरोना संकट में स्वयंसेवकों द्वारा किये गए सेवा कार्यों की समीक्षा करेंगे। साथ ही भविष्य के सेवा कार्यों की योजना पर भी विस्तृत चर्चा होगी। अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन कार्यक्रम के बाद सरसंघचालक श्री मोहन भागवत दो दिन के लिए मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में प्रवास पर होंगे। इस दौरान वह ठेंगडी भवन में मध्यभारत व मालवा प्रांत के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के साथ चर्चा सत्रों में भाग लेंगे।

मध्यभारत प्रांत के प्रचार प्रमुख ओमप्रकाश जी सिसोदिया ने बताया कि इस अवधि में मध्यभारत प्रांत में संघ, सेवा भारती व समाजसेवी संस्थाओं के सहयोग से व्यापक सेवा कार्य किये गए। कोरोना संक्रमण के समय जब अस्पतालों में भर्ती मरीजों को रक्त की आवश्यकता हुई तो संघ के स्वयंसेवकों ने बढ़-चढ़ कर रक्तदान किया। मध्यभारत प्रांत में मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति में 1173 स्वयंसेवकों ने लोगों का जीवन बचाने के लिये रक्तदान किया।

उन्होंने बताया कि इस मुश्किल समय में जब हम सब समाज की सुरक्षा के लिए अपने घरों में थे तब कोरोना वारियर्स अपने प्राणों की चिंता किये बगैर सेवा कार्यों में लगे थे। डॉक्टर, नर्स, पुलिस, सफाई कर्मी एवं मीडियाकर्मियों की इस निस्वार्थ सेवा का स्वयंसेवकों ने जगह जगह सम्मान किया। मध्यभारत  प्रान्त द्वारा पांच हज़ार से ज्यादा कोरोना वारियर्स का सम्मान किया गया।

श्री सिसोदिया जी ने बताया कि प्रवासी श्रमिक लॉकडाउन में सबसे ज्यादा प्रभावित हुए थे। देश भर से प्रवासी श्रमिकों की घर लौटने की तस्वीरें सामने आयीं, इस स्थिति में स्वयंसेवक प्रवासी श्रमिकों की सहायता के लिए आगे आये। स्वयंसेवकों ने 69 सेवा कैंप लगाये जिनके माध्यम से लगभग 22 हजार श्रमिकों तक सहायता पहुंचाई। प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजन एवं मेडिकल कैंप की व्यवस्था की गई थी। श्रमिकों को उनके घर तक पहुँचाने के लिए स्वयंसेवकों ने वाहन की भी व्यवस्था की।

इस महामारी में प्रभावित लोगों को विभिन्न प्रकार की उपयोगी जानकारी देने के लिए स्वयंसेवकों ने कोरोना सहायता केंद्र बनाये। जहाँ लोगों को सरकारी मदद, इलाज, रोजगार इत्यादि विषयों से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी दी गयी।

इसके साथ ही मध्यभारत प्रान्त में 2,044 स्थानों पर शिविर लगाये गए एवं 15072 स्वयंसेवक सेवा कार्यों में सक्रिय रहे। 1, 97,662 मास्क एवं 44124 सैनिटाइजर का वितरण किया गया। स्वयंसेवकों ने 11 लाख से ज्यादा भोजन के पैकेट एवं 1 लाख 50 हज़ार से ज्यादा सूखे राशन के पेकेट का वितरण किया, जिससे लगभग 13 लाख लोग लाभान्वित हुए। उन्होंने बताया कि इस बैठक में आगामी चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए सेवा के नए कार्यों पर सरसंघचालक जी का मार्गदर्शन प्राप्त होगा।

भवदीय

ओमप्रकाश जी सिसोदिया

प्रांत प्रचार प्रमुख, मध्यभारत प्रांत

Leave a Reply

%d bloggers like this: