पाक पीड़ित हिन्दुओं को सुरक्षा व नागरिक अधिकार मिलें : ववहिप

नई दिल्ली जून 27, 2019. विश्व हिन्दू परिषद ने मांग की है कि पाकिस्तान द्वारा पीड़ित हिन्दुओं के धार्मिक, सामाजिक व मानवाधिकारों की रक्षा के साथ उन्हें भारत में नागरिक अधिकार दिए जाएं. परिषद् के केन्द्रीय मंत्री (विदेश विभाग) श्री प्रशांत हरतालकर ने एक प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए यह आज भी कहा कि भारत सरकार पाकिस्तान में बचे सभी धार्मिक अल्पसंख्यकों की रक्षार्थ विश्व समुदाय पर दबाव बनाए. स्वतंत्रता से पूर्व जो भू भाग भारत का अभिन्न अंग था, पाकिस्तान बनने के बाद वहां आज सभी अल्प-संख्यकों की स्थिति अत्यंत चिंतनीय बन चुकी है। वहां किसी तरह बचे हिन्दूओं की स्थिति आज यह है कि वे ना जी सकते हैं और ना मर सकते।

   उन्होंने कहा कि जिनकी जनसंख्या 16% थी, गत 6 दशकों में लगातार घटती हुई अब मात्र 2 से 3 प्रतिशत ही बची है. इनमें हिंदू, सिख, बोद्ध, ईसाई, बहाई, अहमदिया व पारसी सामिल हैं। विविध अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं के आधार पर पाकिस्तान  की 20 करोड़ की अल्पसंख्यक जनसंख्या अब मात्र 60 से 70 लाख ही बची है। 92% हिन्दू आज भी अकेले सिंध प्रांत में रहते हैं। 50 से 60 लाख हिन्दुओं का जीवन अब भी नारकीय बना हुआ है। हर वर्ष लगभग 1200 नाबालिग हिंदू लडकियों का जबरन अपहरण व धर्मांतरण करके उनसे निकाह किया जा रहा है। बलात्कार, मंदिरों का टूटना तथा अल्पसंख्यकों से ज़कात बसूली वहां की आम बात है। इन सभी कारणों से हिंदूओं सहित सभी अन्य अल्पसंख्यक पाकिस्तान छोडने पर मजबूर हैं। 6 से 10 लाख पाक पीड़ित हिन्दू अभी तक भारत में आकर बसे हैं। 7 राज्यों में बसे इन हिंदूओं की सहायता विश्व हिंदू परिषद के माध्यम से 14 अलग-अलग संस्थाओं व्दारा की जा रही है। 

    2016 में मोदी सरकार ने इन सभी अल्पसंख्यकों के लिये संसद में नागरिकता कानून बनाने का प्रयास किया था। किंतु कांग्रेस तथा अन्य विरोधी दलों ने इसे पारित नहीं होने दिया। रोहिंग्या के विरोध में एक भी शब्द ना बोलने वाले इन दलों की नीति की भर्त्सना जितनी की जाए उतनी कम है।

विश्व हिन्दू परिषद् ने सरकार से मांग की है कि:

  1. भारत सरकार पुन: कानून ला कर इन पाक पीड़ित हिंदूओं सहित सभी अल्पसंख्यकों को नागरिकता अधिकार प्रदान करे।

2 दीर्घ-कालिक वीजा सहित अन्य कानूनी प्रक्रियाओं का सरलीकरण हो।

3 पाकिस्तान में शेष बचे हिंदूओं की रक्षार्थ अंतर्राष्ट्रीय दबाव बनाए।

4 भारत आए हुए पाक-पीड़ित हिंदूओं को प्राथमिक सुविधाएं प्रदान की जाएं।

5 महिला एवं बाल विकास की सरकारी योजनाओं का लाभ उन्हें भी दिया जाए।

विहिप केन्द्रीय मंत्री ने घोषणा की कि पाकिस्तान से आए हिंदूओं के साथ विहिप कार्यकर्ता शीघ्र ही सांसदों से मिलकर उन्हें पाकिस्तान में हो रहे मानवाधिकार हनन व पाकिस्तानी हिंदूओं की समस्याओं से अवगत करायेंगे। यह सांसद संपर्क अभियान 14 अगस्त तक चलेगा।

प्रशांत हरताळकर,

केंद्रिय मंत्री (विदेश विभाग)

विश्व हिंदू परिषद

जारी कर्ता :

विनोद बंसल

प्रवक्ता -विहिप

मो. 9810949109

Leave a Reply

%d bloggers like this: