Homeराजनीतिप्लास्टिक मुक्त परिवेश अभियान का शुभारंभ

प्लास्टिक मुक्त परिवेश अभियान का शुभारंभ

प्लास्टिक प्रदूषण भारत ही नहीं, विश्व की समस्या: इंद्रजीत सिंह

अलकनंदा द्वारा प्लास्टिक मुक्त परिवेश अभियान की शुरूआत की गयी है जिसके अंतर्गत क्लब ने कपड़े के बैग एवं थैले निःशुल्क वितरित किए। इस अभियान का शुभारंभ रिजनल चेयरमैन लाॅयन इंद्रजीत सिंह, क्लब के अध्यक्ष लाॅयन ललित गर्ग, डिस्ट्रिक के उपाध्यक्ष द्वितीय लाॅयन प्रदीप सिंघल, प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कमेटी के प्रमुख लाॅयन नरेन्द्र छाबड़ा, क्लब के सचिव लाॅयन अभिषेक जैन ने करते हुए कपड़े के बैग का लोकार्पण किया।
रिजनल चेयरमैन लाॅयन इंद्रजीत सिंह ने कहा कि प्लास्टिक पर्यावरण के लिए इसलिए हानिकारक हैं क्योंकि यह कभी नष्ट नहीं होता, प्लास्टिक का जहरीला रसायन मानव हार्मोन को बदल सकता हैं, पानी को खराब करता हैं, हमारे समुद्री जीवों के जीवन को खतरे में डालता हैं। ग्रीनहाउस गैस के उत्सर्जन को कम करने के अलावा इसका कोई दूसरा उपयोग नहीं हैं। प्लास्टिक के बिना जीवन संभव हैं- इस धारणा को बल देने के लिए लायंस क्लब ने व्यापक स्तर पर प्लास्टिक उपयोग को अवरूद्ध करने के लिए कपड़े के बैग को निःशुल्क वितरित करके जनचेतना को जगाने का सार्थक उपक्रम किया है। प्लास्टिक प्रदूषण की समस्या पूरे भारत की ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व की समस्या है। इस समस्या के समाधान के लिए व्यापक प्रयत्न करने होंगे।
क्लब के अध्यक्ष लाॅयन ललित गर्ग ने कहा कि आज धरती पर प्लास्टिक की मात्रा इतनी ज्यादा बढ़ गयी है कि इसके हानिकारक प्रभाव से जन-जन पीड़ित है। वातावरण में प्लास्टिक की मात्रा बढ़ने पर प्लास्टिक खुले स्थानों जैसे- गलियों-सड़कों, नालियों, नदियों, समुद्रों के आस पास और सागरों के अन्दर देखने को मिलता हैं। इससे जीव-जंतुओं विशेषतः गायों का जीवन खतरे में है। उन्होंने आगे कहा कि विकासशील देशों में इसका प्रभाव एक घातक समस्या के रूप में देखने को मिलता है, क्योंकि वहां पर इसको निस्तारित करने लिए या संग्रहण करने के लिए साधन-सुविधाएं नहीं होती हैं। प्लास्टिक स्वयं भी प्रदूषण फैलाता हैं और एक प्रदूषक घटक के रूप में भी काम करता हैं। प्लास्टिक को जलाने से वायु प्रदूषण, जमींन में डंप करने पर भूमि प्रदूषण, समुद्र में जाने पर वहां की प्रजातियों को बाधित करता है। भारत में भी पॉलिथीन प्रदूषण या प्लास्टिक कचरा इतना सर्वव्यापी हो गया है कि उसके समाधान के लिए सरकारी प्रयत्नों के साथ-साथ गैर सरकारी प्रयत्नों की जरूरत है, विशेषतः जनचेतना को जगाना होगा। लायंस क्लब इसी सोच को क्रियान्विति देने के लिए तत्पर हुआ है। क्लब के सचिव लाॅयन अभिषेक जैन ने प्लास्टिक मुक्त परिवेश अभियान की संपूर्ण जानकारी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

spot_img