Posted On by &filed under राष्ट्रीय.


प्रधानमंत्री ने समृद्ध, विकसित भारत के लिये ‘न्यू इंडिया’ का संकल्प जताया

प्रधानमंत्री ने समृद्ध, विकसित भारत के लिये ‘न्यू इंडिया’ का संकल्प जताया

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2022 तक भारत को एक समृद्ध देश बनाने के लिये आज ‘न्यू इंडिया’ का संकल्प जताया और इसमें हर नागरिक से छोटा बड़ा योगदान करने की अपील की। मोदी ने कहा कि न्यू इंडिया ऐसा होगा जहां गरीब के पास पक्का घर हो, बिजली हो, पानी हो और जहां युवाओं, महिलाओं को अपने सपने पूरे करने के लिये भरपूर अवसर उपलब्ध होंगे।

उन्होंने 71वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली के ऐतिहासिक लाल किले की प्राचीर से अपने संबोधन में कहा कि हमें ऐसा ‘न्यू इंडिया’ बनाना है जो सुरक्षित, समृद्ध और शक्तिशाली हो और जिसका आधुनिक विज्ञान और तकनीकी क्षेत्र में विश्‍व में दबदबा हो।

उन्होंने इस लक्ष्य को हासिल करने में सामूहिक शक्ति लगाने पर जोर देते हुए कहा कि कोई छोटा नहीं होता, कोई बड़ा नहीं होता। उन्होंने ‘ सेतु-बंध ’ में गिलहारी के प्रयास की कथा का उदाहरण देते हुए कहा, ‘‘एक गिलहरी भी परिवर्तन की प्रक्रिया की हिस्‍सेदार बनती है, वो कथा हम सब जानते हैं। इसलिए सवा सौ करोड़ देशवासियों में ने कोई छोटा है न कोई बड़ा है। हर कोई अपनी जगह से 2022 के आजादी के बाद के 75 साल एक नया संकल्‍प, एक नया इंडिया, नई ऊर्जा, नया पुरूषार्थ सामूहिक शक्ति के द्वारा हम देश में परिवर्तन ला सकते हैं। न्यू इंडिया जो सुरक्षित हो, समृद्ध हो, शक्तिशाली हो, न्यू इंडिया जहां भी हर किसी को समान अवसर उपलब्‍ध हो, न्यू इंडिया जहां आधुनिक विज्ञान और तकनीकी क्षेत्र में भारत का विश्‍व में दबदबा हो।’’ मोदी ने कहा, ‘‘हम आज आजादी के 70 वर्ष और 2022 में आजादी के 75 साल मनाएंगे, ये वैसा ही है जिस तरह 1942 से 1947 देश ने सामूहिक शक्ति का प्रदर्शन किया था। अंग्रेजों की नाक में दम कर दिया और पांच साल के भीतर-भीतर अंग्रेजों को हिन्‍दुस्‍तान छोड़कर के जाना पड़ा। हमें आजादी के 75 साल के पांच साल अभी हमारे पास हैं। हमारी सामूहिक संकल्‍प शक्ति, हमारा सामूहिक पुरूषार्थ, हमारी सामूहिक प्रतिबद्धता उन महान देशभक्‍तों को याद करते हुए परिश्रम की पराकाष्‍ठा, 2022 में आजादी के दीवानों के सपनों के अनुरूप भारत बनाने के लिए काम आ सकती है और इसलिए न्यू इंडिया का एक संकल्‍प लेकर हमें देश को आगे बढ़ाना है।’’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘न्यू इंडिया हमारी सबसे बड़ी ताकत है, लोकतंत्र है। लेकिन हम जानते हैं कि हमने लोकतंत्र को मत-पत्र तक सीमित कर दिया है। लोकतंत्र मत-पत्र तक सीमित नहीं हो सकता। और इसलिए हम न्यू इंडिया में उस लोकतंत्र पर बल देना चाहते हैं जिसमें तंत्र से लोक नहीं, लेकिन लोगों से तंत्र चले, ऐसा लोकतंत्र न्यू इंडिया की पहचान बने, उस दिशा में हम जाना चाहते हैं।’’ न्यू इंडिया का संकल्प लेकर आगे बढ़ने का आह्वान करते हुए कहा, ‘‘टीम इंडिया के लिये सवा सौ करोड़ देशवासियों की टीम इंडिया के लिए, आज हमें 2022 तक न्यू इंडिया बनाने का संकल्प लेना होगा…. और ये काम हम खुद करेंगे….2022 में ‘भव्य-दिव्य’ हिन्दुस्तान देखने के लिये करेंगे।’’ प्रधानंत्री ने कहा, ‘‘ हम सब मिलकर के एक ऐसा भारत बनाएंगे जहां गरीब के पास पक्का घर हो, बिजली हो, पानी हो। हम सब मिलकर एक ऐसा भारत बनाएंगे, जहां देश का किसान चिंता में नहीं चैन से सोएगा। आज वो जितना कमा रहा है, उससे 2022 तक दोगुना कमाएगा। हम सब मिलकर के एक ऐसा हिन्दुस्तान बनाएंगे, जहां युवाओं, महिलाओं को अपने सपने पूरे करने के लिये भरपूर अवसर उपलब्ध होंगे।’’

( Source – PTI )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *