18 साल बाद भी पूरा नहीं हुआ परमाणु परीक्षण स्मारक माडल

18 साल बाद भी पूरा नहीं हुआ परमाणु परीक्षण स्मारक माडल
18 साल बाद भी पूरा नहीं हुआ परमाणु परीक्षण स्मारक माडल

जैसलमेर जिले के पोकरण में 18 साल पहले हुए परमाणु परीक्षणों की गूंज ने पूरे भारतवासियों का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है। लेकिन उस याद को ताजा बनाए रखने के लिए माडल स्थापित करने की परियोजना अब तक पूरी नहीं हो पायी है।

भारत ने 1974 के बाद 11 और 13 मई 1998 को परमाणु परीक्षण किए थे।

पोकरण नगरपालिका अध्यक्ष आनंदी लाल गुचिया ने बताया कि जिला प्रशासन ने परमाणु परीक्षण की याद को चिरस्थाई बनाए रखने के लिए स्थानीय जैसलमेर रोड स्थित खादी ग्रामोद्योग भवन में कुछ मॉडल स्थापित कर शक्तिस्थल विकसित करने का फैसला किया था। लेकिन यह योजना अभी तक पूरी नहीं हो पायी है।

उन्होंने कहा कि लाखों रुपए की धनराशि खर्च कर बनाए गए कुछ मॉडल, आयुध गैलेरी तथा युद्घों से संबंधित ऐतिहासिक जानकारियों की प्रदर्शनी भी बंद पड़ी है।

इस बीच सानकड पंचायत समिति के प्रमुख ने मांग की है कि सरकार को यह जांच कराना चाहिए कि परमाणु परीक्षणों का कोई प्रभाव क्या पर्यावरण, क्षेत्र की वनस्पति, पानी और लोगों के स्वास्थ्य पर भी हुआ है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी एन आर नायक और पशुपालन विभाग के उप निदेशक मलखान मीणा ने कहा कि परीक्षणों के बाद लोगों और पशुओं के स्वास्थ्य पर किसी दुष्प्रभाव का कोई पता नहीं लगा है।

( Source – पीटीआई-भाषा )

Leave a Reply

%d bloggers like this: