Posted On by &filed under राजनीति.


लोकसभा चुनाव 2019 से पहले लालू प्रसाद यादव के परिवार में घमासान तेज हो गया है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने परिवार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। तेजप्रताप ने फेसबुक पोस्ट कर अपनी पीड़ा व्यक्त की। उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि मैं रविवार को अपने विधानसभा क्षेत्र महुआ गया था। महुआ में टी-पार्टी के जरिए क्षेत्र के लोगों की समस्या सुन रहा था। इस दौरान यहां के जितने भी कार्यकर्ता मेरे पास आए, सबके पास एक ही समस्या थी। वह समस्या थी ओम प्रकाश यादव उर्फ भुट्‌टू और एमएलसी सुबोध राय की शिकायत। सभी कार्यकर्ताओं का कहना था कि हमें आपसे कोई शिकायत नहीं है। हम जानते हैं कि आप बहुत अच्छे हैं, लेकिन भुट्‌टू व सुबोध राय आपके खिलाफ दुष्प्रचार करते हैं।तेजप्रताप ने लिखा कि हमें कार्यकर्ताओं ने बताया कि ये दोनों आपको पागल व सनकी भी बताते हैं। अब तो ये लोग आपको जोरू का गुलाम भी बताने लगे हैं। ये दोनों क्षेत्र में कहते हैं कि तेजप्रताप तो नाम का विधायक है। तेजप्रताप को कुछ नहीं आता है। आम कार्यकर्ताओं का कहना था कि इन लोगों की अफवाहों के कारण मेरा नाम क्षेत्र में खराब हो रहा है। मैंने भी क्षेत्र को लोगों को अपनी समस्या बताई। उन्हें कहा कि मैं भी अपने मम्मी व पापा इन अफवाहों के बारे में बता चुका हूं। भुट्‌टू व सुबोध राय की शिकायत करने पर मम्मी मुझे ही डांट देती हैं।अब आप ही बताएं कि क्या इस प्रेसर में राजनीति हो सकती है? मुझमें अदम्य साहस व क्षमता है, जिससे मैं इन कीड़ों-मकोड़ों को चुटकी में मसल सकता हूं। किंतु, मेरा पैर अपनों के कारण रुक जाता हे। अगर यही स्थिति रही तो मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि मैं अब राजनीति नहीं करूंगा। राजनीति वही लोग करेंगे जो मेरी छवि धूमिल कर रहे हैं। अब ओम प्रकाश यादव भुट्‌टू ही महुआ से चुनाव लड़ेगा, विधायक और मंत्री बनेगा। भुट्‌टू को तेजस्वी यादव का काफी करीबी माना जाता है। जैसे ही यह फेसबुक पोस्ट का मामला गरमाया, तेजप्रताप ने इसे डिलीट कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *