दिल्ली की विरासत को सामने लाने के लिए होगा कार्यक्रमों का आयोजन

दिल्ली की विरासत को सामने लाने के लिए होगा कार्यक्रमों का आयोजन
को सामने लाने के लिए होगा कार्यक्रमों का आयोजन

दिल्ली की मूर्त और अमूर्त दोनों तरह की धरोहर के विभिन्न पक्षों को 18 अप्रैल से शुरू हो रहे के सप्ताह भर चलने वाले समारोह के दौरान सामने लाया जाएगा।

गैर लाभकारी ऑनलाइन विश्वकोशीय संस्था के इस समारोह में कई कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे जिसमें शहर की धरोहर के बारे में लोगों के नजरिये को पेश किया जाएगा।

सहपीडिया के सचिव वैभव चौहान ने कहा, ‘‘हम विरासत के क्षेत्र में काफी काम कर रहे हैं, लोगों को उनके शहर की मूर्त, सांस्कृतिक और निर्मित विरासत संपत्ति की समझ पैदा करने में मदद कर रहे हैं। आगामी विरासत सप्ताह में हमारे पास स्थलों से जुड़े इतिहास के बारे में कार्यक्रमों की एक श्रृंखला है।’’ कार्यक्रमों में पुरानी दिल्ली की संकरी गली से गुजरते हुये एक फूड वॉक भी शामिल है जिसे वकील तलीश राय आयोजित करा रहे हैं। इसमें पुरानी दिल्ली के स्मारकीय इतिहास के बारे में बताते हुये पारंपरिक स्वादिष्ट व्यंजनों का स्वाद चखा जाएगा।

गुड़गांव में 23 अप्रैल को अरावली के वन ग्रोव के अंदर से एक नेचर वॉक की योजना बनायी गयी है।

सुलेख कला और इसकी विभिन्न परंपराओं पर एक विशिष्ट कार्यशाला का आयोजन भी किया जाएगा। इसके अलावा तीन मुगल शासकों हुमायूं, अकबर और जहांगीर के समय दरबारी और कवि रहे पिता-बेटे की महान मुगल जोड़ी बैरम खां और अब्दुल रहीम पर एक चर्चा का आयोजन भी किया जाएगा।

( Source – PTI )

Leave a Reply

%d bloggers like this: