जहां तक मेरा सवाल है, मुझे कोई परेशानी नहीं हुई : रियो मैराथनर कविता

जहां तक मेरा सवाल है, मुझे कोई परेशानी नहीं हुई : रियो मैराथनर कविता
जहां तक मेरा सवाल है, मुझे कोई परेशानी नहीं हुई : रियो मैराथनर कविता

धाविका ने आज से खुद को दूर रखते हुए कहा कि की मैराथन स्पर्धा के दौरान उनके लिये काफी पानी मौजूद था।

जैशा मैराथन में भाग लेने वाली दूसरी भारतीय धाविका थी। उन्होंने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि :: के अधिकारियों ने कड़ी धूप में आयोजित रेस के दौरान उनके लिये पानी और एनर्जी ड्रिंक की कोई व्यवस्था नहीं की थी। ने इस दावे का खंडन किया था।

कविता रेस में दो घंटे 59 मिनट और 29 सेकेंड का समय लेकर 120वें स्थान पर रही थी, उसने कहा कि उसे भारतीय अधिकारियों से कोई शिकायत नहीं है।

कविता ने महाराष्ट्र में अपने घर से पीटीआई से कहा, ‘‘मैं जैशा के मुद्दे में शामिल नहीं होना चाहती। उसने जो कुछ कहा या शिकायत की, उसके बारे में मैं कुछ बात नहीं करना चाहूंगी। मैं खुद के बारे में बात करूंगी और जहां तक मेरा संबंध है, मुझे कोई समस्या नहीं है। यह मेरे लिये सामान्य रेस थी, हालांकि मुझे इस दौरान काफी प्यास लगी क्योंकि रेस कड़ी धूप में हुई थी। ’’ कविता ने कहा, ‘‘मैं नहीं जानती कि कितने अंतराल पर पानी के स्टेशन बनाये गये थे। लेकिन वहां पानी के स्टेशन थे और मुझे लगता है कि रेस के दौरान कोर्स पर रखा गया पानी काफी था इसलिये मैंने बिना किसी समस्या के रेस पूरी की। ’’

( Source – पीटीआई-भाषा )

Leave a Reply

%d bloggers like this: