Posted On by &filed under टेक्नॉलोजी.


भिण्ड,  राज्य सरकार द्वारा  नदी संरक्षण की दिशा में किए जा रहे प्रयासों को जिला प्रशासन द्वारा मूतरूप देने की अनुकरणीय पहल की गई है। जिसके अंतर्गत क्षेत्र की जीवनदायनी कण्डई नदी पर स्टाफ डेम, साफ-सफाई, गहरीकरण और पानी रोकने के प्रयास जनसहयोग के माध्यम से किए गए है।

भिण्ड जिले के राजस्व अनुभाग लहार के क्षेत्र को पौराणिक काल में लक्षाग्रह की नगरी के नाम से जाना जाता था। उस समय क्षेत्र के अंतर्गत कण्डई नदी जीवन दायनी के रूप में प्रसिद्ध थी। इस नदी का उदगम रूरई गांव से होकर लहार क्षेत्र में 30 किमी में फैला हुआ था। जिसका संगम करीला के जंगलों में मृगा नदी में संगम हुआ था। इस नदी किनारे दस ग्राम स्थित है। जिनके क्षेत्र में तीन स्थानों पर पौराणिक मन्दिर पर मेलों का आयोजन किया जाता है।

जिले के लहार अनुभाग के अंतर्गत जीवनदायनी कण्डई नदी पर जिला प्रशासन के माध्यम से नदी संरक्षण की दिशा में अनुकरणीय पहल की गई है। जिसके अंतर्गत नदी की साफ-सफाई, गहरीकरण, चौड़ीकरण, पानी रोकने हेतु निर्माण एवं अन्य कार्य हाथ में लिए जाकर कण्डई नदी के चिरूली इकमिली घाट पर जन सहयोग व श्रमदान के माध्यम से पानी रोकने का प्रयास किया गया है। जिसके अंतर्गत पक्का स्टाप डेम का निर्माण कराया गया है। कण्डई नदी पर पक्का स्टाफ डेम के निर्माण में जन अभियान परिसर की नवांकुर संस्थाएं एवं ग्राम विकास प्रस्फुटन समितियों के सदस्यों और ग्रामीणों ने अपनी अहम भूमिका अदा की है। साथ ही समाजसेवी एवं क्षेत्रीय ग्रामों के जन सहयोग से राशि एकत्रित कर कार्य कोriver अंतिम रूप दिलाया गया है। जिसके अंतर्गत इस डेम के लिए बोल्डर, रेत एवं सीमेंट हेतु जन सहयोग से लगभग 35 हजार रुपए की राशि उपलब्ध कराई गई है। इसीप्रकार नवांकुर संस्थाएं एवं ग्राम विकास प्रस्फुटन समितियों के सदस्यों और ग्रामीणजनों ने लगभग 13 हजार रुपए मूल्य का श्रमदान किया गया है।

लहार क्षेत्र के अंतर्गत कण्डई नदी में पक्का स्टाप डेम के निर्माण से चिरूली एवं इकमिली ग्राम के किसानों को सिंचाई हेतु पानी की सुविधा प्रदान करने की पहल की गई है। इस संरचना के निर्माण में 48 हजार रुपए का वस्तु एवं श्रमदान मूल्य का व्यय भी किया गया है। कण्डई नदी पर करियावली घाट पर जन सहयोग की भावना के साथ श्रमदान दो दिवस किया गया। जिसमें नदी में स्थित चांदनी (बेशरम) की साफ-सफाई भी कराई गई। साथ ही नदी पर लगभग 30 से 35 व्यक्तियों द्वारा तीन दिवस कार्य को अंजाम दिया गया। इस कार्य में श्रमदान के माध्यम से 26 हजार 250 रुपए व्यय किए जा चुके है। जिले के लहार क्षेत्र अंतर्गत जीवनदायनी कण्डई नदी पर किए गए स्टे्रक्चर निर्माण और साफ-सफाई अभियान के लिए जिला प्रशासन और जन अभियान परिषद द्वारा सक्रिय भूमिका अदा की गई है। साथ ही राज्य सरकार द्वारा नदी संरक्षण की दिशा में किए गए प्रयासों को मूर्तरूप प्रदान करने की पहल को साकार किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *