3-3 की बराबरी कर रोनाल्डो ने दिखाया क्यों है वो महान खिलाड़ी

नई दिल्ली: हर बार की तरह अपने जबर्दस्त खेल से प्रशंसकों का दिल जीतने वाले क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने फीफा विश्व कप के ग्रुप-बी के सबसे चर्चित मुकाबले में हैट्रिक लगाकर अपनी टीम को हार से बचा लिया।क्रिस्टियानो रोनाल्डो अपनी टीम और दर्शको की उमीदों पर खरे उतरे ,वहीँ दूसरी ओर स्पेन की ओर से डिएगो कोस्टा ने 2 गोल दागे, जबकि नैचो के हिस्से एक गोल आया.रोनाल्डो वर्ल्ड कप के इतिहास में वह हैट्रिक जमाने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गए हैं.

उन्होंने मैच के चौथे ही मिनट में पेनल्टी पर गोल कर पुर्तगाल को 1-0 से बढ़त दिला दी. पहला गोल करने के बाद वह दौड़ते हुए कॉर्नर फ्लैग के करीब जाकर अपने जाने पहचाने खास अंदाज में जश्न मनाया.मैच के 24वें मिनट में ब्राजील में जन्मे और मौजूदा एटलेटिको मैड्रिड टीम के 29 वर्षीय स्ट्राइकर डिएगो कोस्टा ने स्पेन को 1-1 की बराबरी दिला दी. स्पेनिश डिफेंडरों ने रोनाल्डो को बांधने की लाख कोशिशें कीं, लेकिन रोनाल्डो कब मानने वाले थे. उन्होंने 44वें मिनट में पुर्तगाल को 2-1 से बढ़त दिला दी.
एक बार फिर डिएगो कोस्टा ने धूम मचाई और 55वें मिनट में 2-2 से मैच बराबर कर दिया. बराबरी के गोल के बाद से स्पेनिश खिलाड़ियों ने शानदार ‘टिकी टाका’ फुटबॉल का प्रदर्शन करते हुए लगातार हमले बोले. रोनाल्डो के रियल मैड्रिड के साथी 28 साल के नैचो ने 58वें मिनट में स्पेन को 3-2 से आगे कर दिया.
आखिरकार रोनाल्डो ने दिखला दिया कि उन्हें क्यों महान कहा जाता है. उन्होंने 88वें मिनट में फ्री किक पर गोल कर पुर्तगाल को 3-3 की बराबरी दिला दी. दरअसल, गेरार्ड पिक की गलती से पुर्तगाल को फ्री किक मिली, जिसे रोनाल्डो ने गोल में बदलकर यह अहम मुकाबला ड्रॉ कराया.

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: