मनमोहन के दावे का रूपानी ने किया खंडन, कहा नर्मदा मसले पर मनमोहन से मिले थे मोदी

मनमोहन के दावे का रूपानी ने किया खंडन, कहा नर्मदा मसले पर मनमोहन से मिले थे मोदी
मनमोहन के दावे का रूपानी ने किया खंडन, कहा नर्मदा मसले पर मनमोहन से मिले थे मोदी

गुजरात का मुख्यमंत्री रहते नर्मदा परियोजना पर नरेंद्र मोदी की तरफ से कभी मुलाकात नहीं करने के मनमोहन सिंह के दावे के एक दिन बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने उन पर पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए कहा है कि मोदी ने इस परियोजना पर चर्चा के लिए सिंह से 2011 तथा 2013 में मुलाकात की थी ।

उन्होंने यह भी कहा कि गुजरात का मुख्यमंत्री रहते मोदी ने इस मामले पर इन मुलाकात के अलावा सिंह को कई पत्र भी लिखे थे ।

सरदार सरोवर बांध मामले पर रूपानी ने सिंह और मोदी की मुलाकात तथा पत्राचार के संबंध में कई दस्तावेज दिखाये ।

इन दस्तावेजों के अनुसर मोदी ने सिंह को कई पत्र लिखे थे । इन पत्रों के माध्यम से नर्मदा पर बनने वाले सरदार सरोवर बांध पर ” पूरी ऊंचाई और पुल के साथ-साथ फाटकों की स्थापना के लिए स्पिलवे पियर्स के निर्माण” के लिए अनुमति मांगी थी ।

रूपानी ने यहां संवाददताओं को बताया, ‘‘नर्मदा परियोजना की देरी के लिए गुजरात के लोगों को स्पष्टीकरण देने की बजाए सिंह ने मोदीजी के साथ मुलाकात के बारे में बताने के लिए पूरी तरह झूठ का सहारा लिया है । इन दस्तावेजों से स्पष्ट हो जाता है कि मोदी ने सिंह को न केवल कई बार लिखा था बल्कि बांध के रूके कार्यों के बारे में बताने के लिए उनसे मुलाकात भी की थी ।’’ पूर्व प्रधानमंत्री ने कल कहा था कि मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो सरदार सरोवर बांध के बारे में बताने के लिए उनसे कभी मुलाकात नहीं की थी ।

मोदी ने आरोप लगाया था कि सरदार सरोवर बांध की ऊंचाई बढाने के मामले को लेकर तत्कालीन प्रधानमंत्री से कई बार मुलाकात की लेकिन इस परियोजना को पूरा करने के लिए पूर्ववर्ती संप्रग सरकार से कोई आश्वासन नहीं मिला था । मोदी के इस बयान के कुछ हफ्ते बाद मनमोहन ने कल यह दावा किया था ।

रूपानी ने कहा कि मोदी ने इस परियोजना के संबंध में 2011 में जनवरी और जून में तथा अगस्त 2013 में सिंह को कई बार पत्र लिखा था । इसमें पर्यावरण अनुमति एवं पुनर्वास का मामला भी शामिल है ।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मार्च 2011 में सिंह ने जब गुजरात का दौरा किया था मोदी ने उन्हें इस बारे में बताया था । फरवरी 2013 में मोदीजी ने सिंह से पीएमओ में मुलाकात की थी । यह भी रिकार्ड में है । यह मुलाकात तकरीबन 45 तक चली थी और मामले में चर्चा हुई थी । इसके बावजूद सिंह यह दावा कर रहे हैं कि मोदीजी इस मुद्दे पर उनसे कभी नहीं मिले ।’’ रूपानी ने दावा किया कि इस परियोजना को रोकने के लिए गुजरात की जनता आसन्न विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को करारा जवाब देगी ।

( Source – PTI )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

* Copy This Password *

* Type Or Paste Password Here *

Captcha verification failed!
CAPTCHA user score failed. Please contact us!