‘संदीप दास की उंगलियां स्कूल की मेज पर स्वत: थिरकती थीं’

‘संदीप दास की उंगलियां स्कूल की मेज पर स्वत: थिरकती थीं’
की उंगलियां स्कूल की मेज पर स्वत: थिरकती थीं’

विजेता तबला वादक संदीप दास का स्कूली समय से तबला वादन से लगाव था और एक अवसर पर स्कूल के एक शिक्षक ने उनके पिता से कक्षा में पढ़ाई के दौरान मेज पर उंगली थिरकाने को लेकर शिकायत की थी।

गत रविवार को यो.यो मा के साथ संदीप दास के सिल्क रोड इंसेब्ल ‘‘सिंग मी होम’’ ने वर्ल्ड म्युजिक श्रेणी में ग्रेमी अवार्ड जीता था।

संदीप दास के बड़े भाई कौशिक दास और स्थित संत जेवियर हाई स्कूल जहां उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण की थी, के एक शिक्षक ने उनसे जुड़ी मधुर यादों को साझा किया है।

23 जनवरी 1971 को जन्मे संदीप दास ने पटना स्थित संत जेवियर हाई स्कूल में अध्ययन करते हुए वर्ष 1986 में मैट्रिक की परीक्षा पास की।

संदीप के बड़े भाई कौशिक ने पीटीआई भाषा को बताया कि एक बार उक्त स्कूल के एक शिक्षक ने उनके पिता से शिकायत की थी कि संदीप दास कक्षा के दौरान अपनी उंगलियों से मेज को बजाता है पर परिवार जानता था कि उनका तबला से लगाव होने के कारण स्वत: उनकी उंगली थिरकने लगी होगी।

संत जेवियर स्कूल के वर्तमान प्राचार्य फादर जैकब ने बताया कि स्कूल में एसंेबली के दौरान संदीप दास की इस उपलब्धि के बारे में बताए जाने पर बच्चों ने जोरदार ताली बजाकर स्वागत किया।

संत जेवियर स्कूल के सहायक प्राचार्य फादर मनीष ओस्टा ने बताया कि संदीप दास के पटना आने पर उनके स्कूल ने उन्हें सम्मानित करने का निर्णय किया है।

( Source – PTI )

Leave a Reply

%d bloggers like this: