देश में अनुशासन की बात करने वाले को तानाशाह कह दिया जाता है : मोदी

नई दिल्ली : की एक किताब के विमोचन के मौके पर पीएम मोदी ने बिना किसी का नाम लिए कहा एक व्यक्ति जो अनुशासन की बात कहता है उसे ‘तानाशाह’ के रूप में प्रचारित किया जा रहा है। मोदी सदन में अनुशासन लाने के लिए की तारीफ में भी बोले। उन्होंने यह भी कहा कि राज्यसभा में व्यवधान के कारण नायडू सभापति के रूप में प्रशासनिक कुशलता दिखाने में सक्षम हुए।मोदी ने कहा, “नायडू अनुशासन को बनाए रखने वाले व्यक्ति हैं, लेकिन देश में हालात ऐसे हैं कि अनुशासन को अलोकतांत्रिक कहना आसान हो गया है। अगर कोई अनुशासन में लाने की कोशिश करता है तो उसे इसके लिए सजा का सामना करना होता है। उसे तानाशाह कहा जाता है।”नायडू की किताब ‘मूविंग ऑन..मूविंग फॉरवर्ड : अ इयर इन ऑफिस’ उनके उपराष्ट्रपति व राज्यसभा सभापति के रूप में एक साल पूरे होने पर जारी की गई है।भाजपा के पूर्व अध्यक्ष की प्रशासकीय विशेषज्ञता की तारीफ करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “नायडू खुद अनुशासन का पालन करते हैं। अनुशासन उनके स्वभाव में है।”उन्होंने कहा, “अगर सदन ठीक तरह से काम करता है तो इस बात पर कोई ध्यान नहीं देता कि कौन अध्यक्ष है। लेकिन जब यह मानकों के मुताबिक नहीं चलता है तो हर कोई सभापति पर ध्यान देता है कि उस व्यक्ति के क्या गुण हैं और वह व्यक्ति सदन के अनुशासन को कैसे बनाए रखता है।”

Leave a Reply

%d bloggers like this: