Posted On by &filed under राष्ट्रीय.


टीआरएस नेता ए पी जितेन्द्र रेड्डी ने कहा, उनकी पार्टी राजग में शामिल नहीं हो रही

टीआरएस नेता ए पी जितेन्द्र रेड्डी ने कहा, उनकी पार्टी राजग में शामिल नहीं हो रही

तेलंगाना में सत्तारूढ़ टीआरएस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा है कि उनकी पार्टी की दिलचस्पी राजग में शामिल होने की नहीं है और वह केंद्र की भाजपा नीत सरकार को मुद्दों पर आधारित अपना समर्थन जारी रखेगी।

लोकसभा में तेलंगाना राष्ट्र समिति के नेता ए पी जितेन्द्र रेड्डी ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी कांग्रेस की अगुवाई में उन 16 विपक्षी दलों के समूह में भी शामिल नहीं होगी जिसकी भाजपा का मुकाबला करने के लिए वैकल्पिक रणनीति बनाने की खातिर पिछले सप्ताह बैठक हुई थी।

रेड्डी ने पिछले सप्ताह कहा ‘‘हम भाजपा को मुद्दों के आधार पर समर्थन दे रहे हैं। हमारे पास (16 विपक्षी दलों के समूह में शामिल होने की ) कोई योजना नहीं है। तेलंगाना के लिए जो भी अच्छा करना चाहता है, हम उसके साथ हैं।’’ टीआरएस ने राजग सरकार को नोटबंदी और जीएसटी को लेकर समर्थन दिया था। हाल ही में संपन्न राष्ट्रपति पद के चुनाव और उप राष्ट्रपति पद के चुनाव में भी उसने राजग के उम्मीदवारों का समर्थन किया था।

बहरहाल, भाजपा और टीआरएस राज्य में एक दूसरे का विरोध कर रहे हैं।

रेड्डी ने कहा कि टीआरएस की दिलचस्पी राजग में शामिल होने की नहीं है।

उन्होंने कहा ‘‘हम हमारे राज्य का निर्माण कर रहे हैं। हमारा समर्थन (भाजपा नीत सरकार को) मुद्दों पर आधारित है। जब तक वह तेलंगाना के लिए अच्छा करते रहेंगे, तब तक हम उनके साथ हैं। अगर नहीं, तो हम उनसे लड़ेंगे। हमारी दिलचस्पी राजग में शामिल होने में नहीं है।’’ वर्ष 2019 में होने जा रहे विधानसभा चुनाव जीतने के भाजपा के लक्ष्य के बारे में रेड्डी ने कहा कि टीआरएस को नहीं लगता कि राजग की प्रमुख पार्टी तेलंगाना में सत्तारूढ़ दल की दुर्जेय विरोधी होगी।

उन्होंने टीआरएस सरकार की प्रमुख और कल्याणकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि लोगों के लिए मुख्यमंत्री अथक श्रम कर रहे हैं।

महबूबनगर से लोकसभा सदस्य रेड्डी ने कहा ‘‘मुझे नहीं लगता कि किसी के पास भी तेलंगाना में (सत्ता में आने का ) मौका है।’’ भाजपा की तेलंगाना ईकाई विभिन्न मुद्दों पर टीआरएस सरकार पर हमला बोलने का कोई मौका नहीं छोड़ती।

तेलंगाना में विधानसभा चुनाव वर्ष 2019 में होंगे और भाजपा ने राज्य में सत्ता हासिल करने की अपनी महत्वाकांक्षा को छिपाया नहीं है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाम मई में तेलंगाना गए थे। अब वह टीआरएस से मुकाबला करने की खातिर पार्टी का उत्साह बढ़ाने के लिए अगले माह फिर तीन दिन के तेलंगाना दौरे पर जाएंगे।

( Source – PTI )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *