युवा तय करेंगे हिमाचल प्रदेश की नयी सरकार का भविष्य

युवा तय करेंगे हिमाचल प्रदेश की नयी सरकार का भविष्य
युवा तय करेंगे की नयी सरकार का भविष्य

हिमाचल प्रदेश में आगामी नौ नवंबर को होने वाले का परिणाम तय करने में 18 से 40 साल तक आयु वर्ग के युवा मतदाता अहम भूमिका निभायेंगे।

द्वारा आज जारी किये गये राज्य के मतदाताओं से जुड़े आंकड़ों के मुताबिक हिमाचल प्रदेश में लगभग 50 लाख मतदाताओं में से आधी से अधिक संख्या 18 से 40 साल तक के आयु वर्ग के लोगों की है। जबकि 40 से 60 साल तक की आयु वर्ग के मतदाताओं की भागीदारी एक तिहाई है।

हिमाचल प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के हवाले से आयोग द्वारा जारी आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक 68 विधानसभा सीटों वाले इस पर्वतीय राज्य की कुल आबादी 73 लाख 83 हजार 912 में आयोग द्वारा जारी पहचान पत्र धारक मतदाताओं की कुल संख्या 49 लाख 88 हजार 367 है। इनमें 25 लाख 31 हजार 321 पुरुष और 24 लाख 57 हजार 32 महिला एवं 14 किन्नर मतदाता है।

राज्य के पंजीकृत मतदाताओं में 18 से 25 साल तक की आयु के मतदाताओं की संख्या 734522 और 25 से 40 साल तक के आयुवर्ग वाले 1789935 मतदाता हैं। इन दोनों आयुवर्ग के मतदाताओं की चुनाव में हिस्सेदारी 50.60 प्रतिशत होगी। वहीं 25 से 40 साल के आयुवर्ग के मतदाताओं की संख्या 1642086 और 60 साल से अधिक आयु के मतदाताओं की संख्या 821824 है। आंकड़ों के स्पष्ट है कि 18 से 40 साल की आयुवर्ग के मतदाताओं की राज्य में नयी सरकार के चयन में अहम भूमिका होगी। हिमाचल प्रदेश के चुनावी मुकाबले में पिछले चुनावों की तरह इस बार भी मुख्य मुकाबला दोनों राष्ट्रीय दलों भाजपा और कांग्रेस के बीच है। आयोग के मुताबिक चुनावी दौड़ में राज्य स्तरीय मान्यता प्राप्त एक भी दल शामिल नहीं है। वहीं राज्य के सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों में मतदाताओं की संख्या 20 हजार से एक लाख के बीच है। क्षेत्रफल के लिहाज से शिमला सबसे छोटा और लाहौल स्पीति सबसे बड़ा विधानसभा क्षेत्र है। वहीं मतदाताओं की संख्या के मामले में 95064 मतदाताओं के साथ सुल्लाह विधानसभा क्षेत्र सबसे बड़ा और 22995 मतदाताओं के साथ लाहौल स्पीति सबसे छोटा विधानसभा क्षेत्र है।

किसी भी विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या ना तो एक लाख से अधिक है और ना ही किसी विधानसभा क्षेत्र में 20 हजार से कम मतदाता हैं। आयोग द्वारा घोषित चुनाव कार्यक्रम के मुताबिक हिमाचल प्रदेश में नौ नवंबर को एक चरण में मतदान होगा और मतगणना गुजरात विधानसभा चुनाव के साथ 18 दिसंबर को होगी।

( Source – PTI )

Leave a Reply

%d bloggers like this: